अपने बिज़नेस को डिजिटल बना  रहे है? आप सही रास्ते पर हैं|

inventory software

क्या आप एक ऐसे बिज़नेसमैन हैं,  जो अपने सभी बिजनेस  ट्रांजेक्शन्स (लेनदेन) का ट्रैक रखने के लिए कागजात / स्प्रेडशीट पर भरोसा करते हैं?

यदि हाँ, तो मैं मानता हूँ  कि आप अपने इंड्र्स्टरी में एक स्टार्टअप हैं या आपका छोटा बिज़नेस है।

आप एक ऐसा सॉफ्टवेयर ढूंढ रहे होंगे , जो आपके बिज़नेस को बिना किसी परेशानी के चलाने  में आपकी मदद कर सके।

इसका एक  उपाय ‘व्यापर’ -एक बिज़नेस मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर है | ये इन्वेंट्री, खर्चे,  कहीं भी कभी भी हिसाब लगाना, इनवॉइस भेजना, टैक्स का हिसाब लगाना और बहुत कुछ मैनेज करने का सीधा सादा तरीका है |  ये बिज़नेस की प्रैक्टिकल जरूरतों के हिसाब से काम करता है  और GST के अनुरूप है।

यहाँ बताया गया है कि कैसे  ‘व्यापार’ आपके बिज़नेस में मदद कर सकता है|

#1 क्या आप जानते हैं ? 33% बिज़नेस पहले दो सालों में फेल (असफल) हो जाते हैं|

यहाँ तक कि तेज़ी से आगे बढ़ रहे बिज़नेस  भी इस कारण से फेल हो जाते हैं कि बिज़नेस को आगे बढ़ाने में कैश तेज़ी से ख़तम होता है | जितना आप फाइनेंस पर ध्यान नहीं देंगे उतना ही चीज़ों को संभालना मुश्किल होगा |

मुद्दे कि बात ये है: ‘व्यापार’ के साथ,आप बिना किसी परेशानी के अपने  बिज़नेस के फाइनेंशियल रिकार्ड्स को मेन्टेन कर सकते हैं | केवल सही रिकॉर्ड के साथ ही, ठीक निर्णय लेना संभव है | आमदनी और खर्चे के मामले में फाइनेंशियल्ली (  आर्थिक रूप) आपकी कंपनी कैसी है, इसकी जानकारी आपको आने वाले भविष्य में क्या करना है, ये समझने में मदद करेगी|

यह, बदले में, आपको अपने बिज़नेस  पर अच्छी पकड़ देता है।

#2 यदि आप  बिज़नेस को चलाने वाले अकेले मेंबर हैं और आप ही सब कुछ करते हैं – जैसे कि इनवॉइस भेजने से लेकर , इन्वेंट्री मैनेज करना और बहुत कुछ।

और अगर बिज़नेस  अच्छा चल रहा है, तो मिलने वाले सभी भुगतानों को याद रखना सही में बहुत मुश्किल हो जाता है | और आपके ग्राहक आगे से ये कहने नहीं आएँगे, “ये आपके पैसे हैं, ले लीजिये”।  बिज़नेस में होने वाले छोटे छोटे नुक़सान खतरनाक हो सकते हैं, जैसे एक छोटा सा छेद बहुत बड़े जहाज़ को डुबो सकता है, ध्यान रहे   !!

मुद्दे कि बात ये है: ‘व्यापर’, किससे आपको कितना पैसा लेना है, आपको किसको कितना पैसा देना है, आसानी से खर्चों के रिकार्ड्स मैनेज करने, बजट को मेन्टेन करते हुए इन्वेंट्री का ट्रैक रखने में आपकी मदद कर सकता है |

इससे आपका पैसे का होने वाला नुक़सान कम हो सकता है |

# 3 छोटे बिज़नेस की अकॉउंटिंग समय लेने वाली, थकाने वाली, और कठिन होती है |

आपकी टीम के  कुछ बदकिस्मत लोग इस काम को कर रहे हैं (यदि आप नहीं कर रहे हैं)  या आप इसे एक काउंटेंट को आउटसोर्स कर रहे हैं | कुछ भी अकाउंटिंग को मज़ेदार नहीं बना सकता है, लेकिन ‘व्यापार’ इसे बहुत आसान बना देता है ।

मुद्दे कि बात ये है: जो कोई भी अकॉउंटिंग को संभालता है, ‘व्यापार’ उनका काम पूरी तरह से आसान बनाने जा रहा है।इनवॉइस भेजने से, रिपोर्ट तैयार करने से,  टैक्स का हिसाब लगाने तक  सारी चीज़ें बिना आपके समय लगाए अपने आप हो जाएँगी |

और जाहिर है,आपका बही खाते  का काम भी कम हो जाएगा |

#4  GST के तहत सही  रिकॉर्ड के बिना टैक्स की तैयारी एक बहुत बड़ा कष्ट है |

इसके अलावा, यह बहुत समय लेने वाला काम है| या तो आप खुद एक साल के अपने रिकॉर्डस को संभाल कर रख रहे हैं  (क्या आपको उसमें मजा आता है ) या आप काम करने के लिए अकाउंटेंट पर निर्भर हैं और यह एक अच्छा संकेत नहीं है|

मुद्दे कि बात ये है: ‘व्यापार’ की सबसे अच्छी बात है कि, ये फाइनेंशियल डेटा तैयार रखता है जो कि आपके  कंपनी के टैक्सेज भरने और देने के समय काम आता है  |

नतीजे के अनुसार, टैक्स भरने का समय आपके लिए एक  मुश्किल समय नहीं होगा|

#5 जब बिज़नेस के ट्रांजेक्शन्स ( लेनदेन) को   अच्छी तरह से ट्रैक किया जाता है और लिखा जाता है, तो रिस्क का खतरा काफी कम हो जाता  है |

और अगर सरकार कभी आपकी कंपनी का ऑडिट करती है, तो आपके बिज़नेस में जो अब तक हुआ है उनके सही रिकार्ड्स आपके सबसे अच्छा दोस्त होंगे |

मुद्दे कि बात ये है: ‘व्यापार’ आपका  सही फाइनेंशियल डेटा तैयार रखता है, जो कि  सरकार द्वारा पूछताछ के समय में आपकी मदद करता है।

मतलब, ये सबसे अच्छा बचाव होगा जब पूछताछ करने वाली  पार्टीज़ आएँगी |

#6 फाइनेंशियल रिकॉर्डस  की कमी बिज़नेस को बढ़ाने में परेशानी पैदा करेगी |

यदि आपका  बिज़नेस उस स्टेज पर है जब आपको उसको बढ़ाना है, जैसे कि नई जगह पर खोलना है, टीम बनानी है, तो फाइनेंशियल रिकॉर्डस  कि कमी चीजों को मुश्किल कर देगी | क्या आप किसी ऐसे को लोन देंगे, जिसके पास ज़िम्मेदारी के साथ फाइनेंशियल काम  करने का कोई  निशान ना हो  ?

मुद्दे कि बात ये है: ‘व्यापार’ आपके बिज़नेस का इतिहास बनाता है, जो कई मामलों में बहुत जरूरी  है।

आप अपने बिज़नेस को ऐसे तरीके से बढ़ा कर सकते हैं जिसे मापा सकता है और जिसके बारे में पहले से अनुमान लगाया जा सकता है |

तो … क्या हम इस बात से सहमत हैं कि व्यापार जैसा बिज़नेस  मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर -सभी छोटे बिज़नेसमैन के लिए ज़रूरी है? अधिक जानकारी के लिए www.vyaparapp.in पर जाएं|

हैप्पी व्यापारिंग!!!Accounting software, GST compatible accounting software, Vyapar, Invoicing software

 

You May Also Like

Leave a Reply