इन 9 कारणों की वजह से आपको अपने व्यवसाय को बचने के लिए अपने व्यवसाय का बीमा कराना चाहिए|

भारत में छोटे व्यवसाय का बीमा कराना अनिवार्य तो नहीं पर इसकी ज़रूरत ज़रूर है| अगर आपने अभी तक अपने व्यवसाय का बीमा  नहीं कराया है तो आप अपने व्यवसाय को खतरे में डाल रहे हैं| छोटे व्यवसाय के ऊपर खतरे का डर अधिक होता है, जहाँ 40 % लोगों को अपना व्यवसाय दोबारा शुरू करने का मौका नहीं मिलता अगर एक बार बंद हो जाए तो|

वहीँ दूसरी ओर अपने व्यवसाय का बीमा  कराने से आप अनदेखी मुसीबतों का सामना जैसे की आर्थिक नुकसान झेलने के लिए सक्षम बनता है| कई बार आप ऐसे नुकसान को अकेले नहीं झेल पाएंगे| आप चाहे घर से काम करते हों या कार्यालय से, एक छोटे व्यवसाय के मालिक होने के नाते आपके पास अगर एक अच्छी व्यवसाय बीमा  होना बहुत हीं आवश्यक है|

 

आप शायद यह पढ़ना चाहेंगे: 9 तरह के छोटे व्यावसायिक बी

 

9 महत्वपूर्ण कारण जिसकी वजह से आपको अपने छोटे व्यवसाय का बीमा  कराना आवश्यक है:

 

1 ) प्राकृतिक आपदाएं आपके छोटे व्यवसाय को किसी भी वक़्त ख़तम कर सकती है|

आपके व्यवसाय का स्थान आग, बाढ़, भूकंप,सुनामी, जैसे प्राकृतिक आपदाओं की वजह से नष्ट हो सकती है|

अगर आपने अपने व्यवसाय का बीमा  करा रखा है तो इससे आपको इन सब प्राकृतिक आपदाओं की वजह से हुए नुकसान की भरपाई करने में मदद मिलती है|

 

2 ) चोरी या डकैती की वजह से आपको भारी नुकसान का सामना करना पड़ सकता है|

आपके कैश काउंटर या लॉकर से चोरी होने की वजह से आपको गहरा नुकसान हो सकता है| इससे आपका व्यवसाय लगभग या पूरी तरह से भी बंद हो सकता है|

एक अच्छे व्यवसाय के बीमा के तहत आपके कैश, भौतिक संपत्ति जैसे, कंप्यूटर, फर्नीचर इत्यादि पूर्ण रूप से सुरक्षित रहता है|

 

3 ) व्यवसाय में लापरवाही, की वजह से आपको उनचाहि मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है|

अगर आप अपने ग्राहक को सही तरह से सर्विस प्रदान करने में असफल हुए तो आपको ग्राहकों की तरफ से नफरत का सामना करना पड़ सकता है जो आपको भुगतान करने से भी इंकार कर सकते हैं|

कुछ व्यवसाय बीमा  के तहत आप इस तरह के लापरवाही से उत्पन्न होने वाले नुकसान को सुरक्षित कर सकते हैं|

व्यवसाय बीमा उन नुकसानों का ख्याल रखते हैं जो सर्विस प्रदान करने में असफलता और लापरवाही की वजह से हुई है|

 

4 ) आपके कार्यकर्ता को छति पहुँचने या उनके निधन की वजह से आपके व्यवसाय के ऊपर मुकदमा चल सकता है|

कार्य के वक़्त अगर आपके किसी कार्यकर्ता को छति पहुँचती है या उनकी मृत्यु होती है तो यह काफी खतरनाक हो सकता है| बात सिर्फ कार्यकर्ता को हर्जाने देने की नहीं होती अगर कार्यकर्ता के परिवार वाले चाहें तो वो आपके खिलाफ मुकदमा भी दायर कर सकते हैं| इन्ही कारणों की वजह से कई देशों में खास कर के विदेशों में व्यवसाय का बीमा  कराना अनिवार्य होता है| 

बीमा  कंपनियां कार्यकर्ताओं  की छति और बीमारी से होने वाले ख़र्च को सुरक्षित करती है| यह उन सभी क़ानूनी खर्चों का भी ख्याल रखती है जो कार्यकर्ताओं के परिवार द्वारा मुकदमा दायर करने से उठाने पड़ते हैं|

आपके कार्यकर्ता भी बीमा की वजह से खुद को मेह्फूस समझते हैं|

 

5 ) दंगों की वजह से आपके व्यवसाय के स्थान को छति पहुँच सकती है|

शहर में स्थित व्यवसाय को राज्य में दंगों के माहौल में घात पहुँचने की सम्भावना अधिक होती है| अगर आपके व्यवसाय का बीमा नहीं किया हो तो नुकसान का भार पूरी तरह से आपके ऊपर आ जाता है|

अच्छे व्यवसाय बीमा  की वजह से आप अपने नुकसान की अच्छी तरह से मराम्मद करा सकते हैं या बदल सकते हैं|

 

6 ) व्यवसाय में हस्तक्षेप की वजह से आपको काफी आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ सकता है|

कई बार प्राकृतिक आपदाओं की वजह से या दंगों की वजह से आपके कार्यकर्ता कार्यालय नहीं आ पते इससे व्यवसाय में हस्तक्षेप होता है और आपके आय का नुकसान होता है|

ऐसे हालातों में व्यवसाय बीमा  आपको नुकसान की भरपाई करने में मदद करती है|

 

7 ) कुछ विवादों की वजह से आपको न्यायलय में जाना पड़ सकता है|

व्यवसाय में अपने ग्राहकों के साथ, विक्रेताओं के साथ नोक झोक होना विवाद होना काफी आम बात है| कभी कभी विवाद इतना बड़ा हो सकता है की आपको न्यायालय की मदद लेनी पड़ सकती है|

बीमा  की वजह से न्यायालय में होने वाले ख़र्चों का ख्याल रखा जा सकता है वरना सभी ख़र्च मालिक को अकेले उठाना पड़ता है|

 

8 ) व्यावसायिक कार्यों में इस्तेमाल आने वाले वाहन के साथ दुर्घटना हो सकती है|

भारत में व्यावसायिक कार्यों में इस्तेमाल होने वाले सभी वाहनों का बीमा   होना अनिवार्य होता है|

वाहन  नीति के तहत बीमा की वजह से वाहन या वाहन चालक को अनदेखे नुकसान जैसे एक्सीडेंट, आग लग जाना इन सभी चीज़ो से सुरक्षा मिलती है|

 

9 ) देनदार, ग्राहक, या बैंक जिसपर आप भरोसा कर सकें|

व्यवसाय का बीमा होने की वजह से ग्राहक, देनदार, सभी को यकीन रहता है की उनके रुपये सुरक्षित है| बीमा   की वजह से लोगों का कंपनी के ऊपर भरोसा बढ़ता है| आगे चल कर इन सब कारणों की वजह से कंपनी की बढ़ोतरी होती है|

बीमा आपके कंपनी को नाज़ुक स्थिति में न सिर्फ आर्थिक मदद करता है बल्कि आपकी कंपनी को और विश्वसनीय बनता है|

 

कुल मिलकर बीमा  न होने की वजह से सभी नुकसान, क़ानूनी कार्रवाहियों के ख़र्च, और बाकी सभी चीज़ों के लिए मालिक होने के नाते आपको अकेले हीं इन सबकी भरपाई करनी होगी| घटनों पर निर्भर करता है की आपको कितना आर्थिक नुकसान हो सकता है और इसकी भरपाई आपके लिए काफी महंगी साबित हो सकती है| इन सबका यही निष्कर्ष है की आपके पास एक अच्छी बीमा नीति  होनी चाहिए जो आपको सभी तरह के नुकसान से सुरक्षित करती हो|

 

आप यह भी पढ़ना चाहेंगे: 9 तरह के छोटे व्यावसायिक बी

 

क्या आपके पास कोई सवाल है? कृपया नीचे कमेंट करें|  

GST से संबंध्ति और नई खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ Vyaparapp.in पर।

बेहतरीन GST Accounting Software डाऊनलोड करें 

Happy Vyaparing!!!

You May Also Like

2 Comments

  1. 1

Leave a Reply