Home » Hindi » नई जीएसटी प्रणाली को लागु होने में देरी

नई जीएसटी प्रणाली को लागु होने में देरी

  • by

जीएसटी रिटर्न फाइल करना हमेशा से ही एक मुश्किल काम था! हैना?

सौभाग्य से सरकार ने नई जीएसटी प्रणाली लागु करने का वादा किया था जो आपको 1 अप्रैल 2019 से उपलब्ध हो जानी चाहिए थी| लेकिन ऐसा हुआ नहीं, इसमें देरी हो गई है|

नई तारीख़ पर जल्द ही फैसला लिया जाएगा जब नया सॉफ्टवेयर 100% तैयार हो जाएगा|

इसकी नई प्रक्रिया क्या होगी?

  • अगर आपका वार्षिक टर्नओवर 5 करोड़ रु तक का है, तब आपको हर महीने GSTR 1, GSTR 2 और GSTR 3  रिटर्न फाइल करने की ज़रुरत नहीं है| आपको सिर्फ इन दो फॉर्म्स में से एक फाइल करना होगा – हर 3 महीने में एक बार   में से एक तरीके से कर सकते हैं वो हैं -सुगम और सहज हर तीन महीने में एक बार (तिमाही आधार पर)।
  • सहज” रिटर्न फॉर्म B2C बिज़नेस के लिए है उन बिज़नसों के लिए जो कंज़्यूमर्ज़ को सामान देते हैं|
  • सुगम” B2B बिज़नेस के लिए हैं, उन बिज़नसों के लिए जो अन्य बिज़नेस और कंज़्यूमर्ज़ दोनों को ही सामान देते हैं|  
  • लेकिन आपको GSTR-3B तो  फाइल करनी ही होगी।
  • अगर आपके पास वित्तीय वर्ष के किसी भी तिमाही में कोई खरीददारी, कोई आउटपुट टैक्स देनदारी और कोई इनपुट टैक्स क्रेडिट नहीं है, तो आपको पूरी तिमाही के लिए सिर्फ एक “Nil” ‘रिटर्न फाइल करनी होगी|
  • आप सिर्फ एक SMS द्वारा आप रिटर्न फाइल कर सकते हैं। यह बहुत आसान लग रहा है!

इसके फायदे क्या-क्या होंगे ?

  • जीएसटी रिटर्न फाइल करनी बहुत आसान और सरल हो जाएगी छोटे बिज़नसों के लिए|
  • कोई कंप्लायंस का झंझट नहीं होगा|
  • विक्रेता और खरीदार के बीच ताल मेल अच्छे से हो जायेगा।

आप इसके बारें में क्या सोचते हैं? कृपया नीचे अपने विचार/कमेंट्स लिखें|

हैप्पी व्यापारिंग  !!!

Leave a Reply