बैलेंस शीट के फीचर – अब LIVE हैं Vyapar App पर!

Balance Sheet Released

जी  हाँ! “Balance Sheet” अब  रिलीज़ हो चूका है|

इस  फ़ीचर  के साथ, Vyapar App आपकी  इन चीज़ों में मदद करता है –

  • आपके  व्यवसाय  की आर्थिक  स्थिति को समझने  में मदद करता है ताकि आप बेहतर निर्णय ले पाएँ|
  • आपके  व्यवसाय  में होने  वाले कार्यों  को बेहतर करता  है, उधार लेने की  संभावनाओं को बढ़ाता  है और इसके साथ हीं  आपके व्यवसाय के संपूर्ण  आर्थिक व्यवस्था को बेहतर बनाता  है|

इस  फ़ीचर  को पाने  के लिए, Vyapar App को  लेटेस्ट वर्ज़न (13.3.0) में  अपग्रेड करें|

डेस्कटॉप  वर्ज़न के  लिए – 
  https://vyaparapp.in/ पर  जाएँ  और “डाउनलोड  फॉर डेस्कटॉप” पर  क्लिक करें|
एक  फाइल  डाउनलोड  हो जाएगी|
उसपर  क्लिक करें  और एप्लीकेशन  के अपडेट होने  का इंतज़ार करें|
नोट: मौजूदा  ग्राहकों को अपने  बिज़नेस डाटा की चिंता  करने की कोई आवश्यकता नहीं  है| आपका डाटा वहीँ रहेगा| हालाँकि  फिर भी हम एप्लीकेशन को डाउनलोड और  रीइंस्टॉल करने से पहले डाटा का बैकअप  लेने का सुझाव देते हैं|
आप  “रिपोर्ट” सेक्शन  के अंदर बैलेंस शीट  देख सकते हैं|

मोबाइल  वर्ज़न के  लिए – 
गूगल  प्ले स्टोर  से Vyapar App डाउनलोड  करें|
पुराने  ग्राहकों  को गूगल प्लेस्टोरे  से Vyapar App ko वर्ज़न  13.3.0 में अपडेट करना होगा|

बैलेंस  शीट क्या  है?

बैलेंस  शीट एक ऐसी  रिपोर्ट है जो  आपके बिज़नेस के फ़ाइनेंशियल  बैलेंस को संक्षिप्त में दर्शाती  है| आप इसका इस्तेमाल अपने बिज़नेस की  आर्थिक स्थिरता और बिज़नेस की प्रगति को  देखने के लिए कर सकते हैं|

बैलेंस  शीट में  3 महत्वपूर्ण  चीज़ें होती हैं:

  • एसेट (संपत्ति) –  आपके बिज़नेस की हर  वो चीज़ जिसके आप मालिक  हैं और जिसका कुछ मूल्य है|
  • लिएबिलिटीज़ –  हर वो चीज़ जिसे  आपको किसे दूसरे को  देना है|
  • इक्विटी/कैपिटल – वैसे  एसेट जो आपके पास है  पर उनपर कोई डेब्ट या दूसरी  लिबिलिटीज़ है या हो सकती है|

बिज़नेस  के लिए बैलेंस  शीट महत्वपूर्ण क्यों  है?

बैलेंस  शीट आपके  बिज़नेस को अच्छे रूप  में दर्शाता है| जब आपका  बिज़नेस लगातार चल रहा होता  है तो बैलेंस शीट की मदद से  यह देखना आसान हो जाता है की हर  रोज़ कितने रूपए आ रहे हैं या कितने  रूपए जा रहे हैं, आप अपने बिल दे पाएंगे  या नहीं दे पाएंगे| बैलेंस शीट किसी भी दिए  गए समय में आपके बिज़नेस की प्रगति को दर्शाता  है|

यहाँ  कुछ ऐसे कारण दिए  गए हैं जिसकी वजह से  बैलेंस शीट आपके बिज़नेस  के बढ़ोतरी के लिए बहुत ही  आवश्यक है|

97% बैंक  लोन देते वक़्त  आपके बिज़नेस के बैलेंस  शीट की मांग करते हैं ताकि  वो जान पाएँ की आप लोन के लिए  योग्य हैं या नहीं|
दूसरे  देनदारों  को भी आपके  बिज़नेस के बैलेंस  शीट की आवश्यकता होती  है ताकि वो आपके बिज़नेस  की आर्थिक स्थिति जान पाएँ  और ये तय कर पाएँ की आप कितने  रुपए के लोन के योग्य हैं|
इससे  यह साबित  होता है की  आप अपने एसेट  और लिबिलिटीज़ का  सही ट्रैक रिकॉर्ड  रख रहे हैं|
इससे  यह साबित  होता है की  आप अपने लोन या  उधार समय पर वापस  कर पाएंगे|
बैलेंस  शीट के इस्तेमाल  से आप सही और बेहतर  निर्णय ले पाएंगे|
इस  रिपोर्ट  की मदद से  आप देनदार, निवेशक  और अपने बिज़नेस के  भागीदारों को बिज़नेस के  फ़ाइनेंशियल स्टेटस को दिखा  पाएंगे|
बैलेंस  शीट की मदद  से आपके बिज़नेस  के बाहरी लोग आपके  बिज़नेस की आर्थिक स्थिति  को आसानी से समझ पाएंगे|
बैलेंस  शीट आपके  पेमेंट लेने  और ऋण चुकाने  की काबिलियत को  अच्छी तरह से दर्शाता  है|
यहाँ  तक की  सरकार भी  किसी भी स्कीम  के अंतर्गत कोई भी  आर्थिक या सामान्य सहायता  प्रदान करने से पहले आपके बिज़नेस  के बैलेंस शीट की मांग करती है ताकि  वह आपके बिज़नेस को अच्छे से समझ पाएँ|
अलग  अलग साल  के बैलेंस  शीट की तुलना  करने से आप अपने  बिज़नेस की प्रगति या  बढ़ोतरी का अंदाज़ा लगा सकते  हैं|
आप  समझ पाएंगे  की आपके बिज़नेस  का प्रदर्शन कैसा  है| आप अपने बिज़नेस  को बढ़ाना शुरू कर सकते  हैं या भविष्य के अनदेखे  ख़र्चों के लिए तैयारी कर सकते  हैं|
इससे  कोई भी  आसानी से  समझ पायेगा  की बिज़नेस में  मुनाफ़ा हो रहा है  या बिज़नेस कर में डूबा  जा रहा है|

अपने  बिज़नेस  के बैलेंस  शीट को Vyapar App की  मदद से आसानी से जेनेरेट  करें|

बैलेंस  शीट में  यह सारी चीज़ें  होती है|

Vyapar App पर  मौजूद बैलेंस शीट  में दिए अनु-भाग (सेक्शन) और  उप-अनु-भाग (सब-सेक्शन ) की जानकारी  यहाँ दी गयी है|

अनु-भाग  (सेक्शन) उप -अनुभाग (सब -सेक्शन ) व्याख्या  (डिस्क्रिप्शन)
मौजूदा  संपत्ति (करेंट  एसेट )  नकद  जो आपके  पास हैं (कैश इन हैंड ) आपके  बिज़नेस में उस दिन  के मौजूदा कुल अमाउंट  को दर्शाता है|
बैंक  अकाउंट बैंक अकाउंट  जो आपके पास है  और उसमें जो रूपए  हैं उसे दर्शाता है|
चेक  जिन्हें  जमा नहीं  कराया गया है (अनडेपोसिटेड चेक ) उन सभी चेक का  जोड़ जो अभी तक जमा  नहीं कराया गया है 
खाता  प्राप्य / विविध  देनदार(अकाउंट रेसिव्बल / Sundry Debtors) उन सभी अमाउंट  को दर्शाता है जो आपको सभी  पार्टी से लेनी है|
अन्य  मौजूदा  संपत्ति  (अदर कर्रेंट एसेट ) इन्वेंटरी  जो आपके पास  है(इन्वेंटरी इन हैंड) आपके इन्वेंटरी  में जितने भी आइटम हैं  उनके स्टॉक के मूल्य का जोड़|
मौजूदा लायबिलिटी  (कर्रेंट लायबिलिटी) देय खाता / विविध  लेनदार(अकाउंट पेयबल / Sundry Creditors) ह दर्शाता  है की आपको पार्टी को  कितने रूपए देने हैं|

 

टैक्स  जो देना  है(टैक्स पेयबल) उन सभी  टैक्स का जोड़  जो आपको देना है 

कुल  टैक्स  जो देना  है = कुल टैक्स  जो कलेक्ट किया गया – क्लेम  करने वाला इनपुट टैक्स क्रेडिट (टैक्स पेयबल = टोटल टैक्स कलेक्टेड – इनपुट टैक्स क्रेडिट टू क्लेम ).

इक्विटी/कैपिटल   इक्विटी का शुरुवाती बैलेंस (ओपनिंग बैलेंस इक्विटी) सभी  स्टॉक आइटम के उस  बैलेंस को दर्शाता है  जो शुरुवात में था 
मालिक  की इक्विटी (ओनर्स इक्विटी ) बिज़नेस के एसेट  में मालिक के हिस्से  के एसेट को दर्शाता है 
कमाई  जो आप  बचा सके(रीटेंड अर्निंग ) उन सभी कमाई  का जोड़ जो आपने  पिछले वित्त वर्ष में  कमाया है 
शुद्ध  आय (नेट इनकम ) यह  प्रॉफिट (मुनाफ़ा) और  लॉस (नुकसान ) के रिपोर्ट  की अंतिम शुद्ध आय होगी 

नए बिज़नेस टिप्स के उपदटेस के लिए जुड़े रहें Vyaparapp.in पर  

डाउनलोड करें बेहतरीन फ्री बिलिंग सॉफ्टवेयर

Happy Vyaparing!!!

 

You May Also Like

Leave a Reply