भारत में अपने कपड़े की दुकान कैसे शुरू करें

कौन है जो कभी कपड़े की दुकान नहीं गया है? हम सभी गए हैं| चाहे वो शादी का मौका हो या त्यौहार हो, गृह-प्रवेश हो या सालगिरह का जशन, हम भारतीय कपड़ों की ख़रीददारी करते ही हैं|


जिन दुकानों से आप कपड़े खरीदते हैं क्या उस जैसी दुकान खोलने का सपना देखा है आपने कभी?

तो अब अपने सपने को साकार कीजिये|

अगर आप किसी नए व्यवसाय के बारे में सोच रहे हैं तो कपड़े का दुकान खोलना काफी फ़ायदेमंद होगा| यह सत्य है की असफलता होती है, कई ऐसे दुकान है जिनमें नुकसान होता है पर उसका सबसे बड़ा कारण है की उनकी योजना सही नहीं होती या फिर तो कोई योजना होती हीं नहीं है|

भारत में अपना कपड़ों का व्यवसाय शुरू करने के लिए 10  स्टेप यहाँ दिए गए हैं:

1 ) अपनी पूँजी इकट्ठा करें

  • कपड़े की दुकान शुरू करना अवश्य हीं महँगा पड़ सकता है| फैशन के मामले में रूपए कमाने के लिए आपको रूपए खर्च भी करने होंगे| हो सकता है की आपको अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए किसी बैंक से लोन लेना पड़े|
  • कुछ लोगों को पूँजी अपने घर से मिल जाती है | कुछ लोग अपने दोस्त और रिश्तेदारों से भी क़र्ज़ लेते हैं| आप अपने अनुसार इसपर निश्चय कर सकते हैं|
  • अपने व्यवसाय को शुरू करने में काम आने वाली पूँजी को कम आंकना सही नहीं होगा|
  • आपको दुकान के लिए कपड़े खरीदने होंगे| अपने दुकान का किराया, प्रचार करने के उपकरण, दुकान में सही से रौशनी और बिजली का प्रबंध, और दूसरे कई खर्च|

2 ) अपना GST पंजीकरण करा लें

  • अगर आपका सालाना टर्नओवर 20 लाख से काम है तो अपने दुकान का GST पंजीकरण करा लें और 15 अंकों वाला GST प्राप्त कर लें|
  • कई व्यापारी उन कंपनी के साथ काम करना नज़रअंदाज़ करती है जिनका GST पंजीकरण नहीं कराया होता है क्योंकि सभी लेन देन को रिकॉर्ड किया जाता है और इससे टैक्स का उल्लंघन होता है| किसी भी प्रकार की परेशानियों से बचने के लिए सरकार द्वारा बनाए टैक्स नियमों का पालन हमेशा करना चाहिए|
  • आप अपना GST रजिस्ट्रेशन यहाँ कर सकते हैं- https://reg.gst.gov.in/registration/

3 ) अपने दुकान का स्थान सोच समझ कर चुनें

  • वहाँ जाएं जहाँ लोग रहते हैं|
  • उस स्थान को चुने जहाँ मुनाफ़ा कमाने के अधिक आसार हों|
  • जितने ग्राहक होने आपके लिए उतना अच्छा होगा|
  • अगर आपको कोई ऐसा स्थान नहीं मिल रहा तो किसी ऐसे जगह पर जाएं जहाँ लोग रोज़ आते हों और जहाँ आपके प्रतिद्वेंदी काम हों|
  • अपनी बेहतरी के लिए कोशिश कर के ऐसा स्थान चुनें जहाँ आपके प्रतिद्वेंदी कम हों|

4 ) अपने कपड़े की दुकान को छोटे सिरे से शुरू करें

सभी बड़े व्यवसाय की शुरुवात छोटे व्यवसाय से हीं होती है| शुरू करने से पहले अच्छी योजना बन लें|

  • अपने अर्थव्यवस्था की हकीक़त अच्छे से समझ लें|
  • अपने कपड़े के दुकान को खोलने में आपको कितने रुपए लगेंगे इसका सही आकलन कर लें|
  • जरुरत पड़ने पर बैंक से लोन लें|
  • कोशिश करें की आपको अपने दुकान के लिए कोई निजी निवेशक मिल जाए| (प्राइवेट इन्वेस्टर्स)
  • जाँच ले कि आपको कहाँ कितने रुपए लगाने हैं|

5 ) अपने प्रतिद्वेंदियों से सीखें

  • अपने पास के किसी अच्छे कपड़े कि दुकान पर जाएं और देखें कि उन्होंने क्या क्या सामान कैसे कैसे रखा है|
  • उनके काम करने के समय, सर्विस, स्टॉक, इत्यादि पर गौर करें|

6 ) रचनात्मक बनिए पर अपने अस्तित्व को बरक़रार रखें

  • अपने दुकान के लिए एक आकर्षित नाम चुनें|
  • अपने दुकान को आकर्षक बनाएँ| अपने दुकान को बहार और अंदर दोनों जगह सजाने में रूपए खर्च करें| सुंदर दिखने वाली आलमारियां लगाएँ| अपने दुकान कि हर जगह का ख़ूबसूरती से इस्तेमाल करें इससे ग्राहक बहुत प्रसन्न होते हैं| आपके दुकान के सभी डिस्प्ले ग्राहकों को अच्छे से नज़र आने चाहिए|
  • ध्यान रखें कि आपने जो कपड़े डिस्प्ले पर लगाएँ है वह ग्राहकों का ध्यान अपनी ओर केंद्रित कर पाए| मौसम के हिसाब से डिस्प्ले तय करें और वह डिस्प्ले पर लगाएँ जो आपके दुकान में है| अपने दुकान को अव्यवस्थित न रखें|

7 ) अपने दुकान में स्टॉक लाना और सप्लायर ढूँढना

  • आपके दुकान में सभी तरह के ग्राहकों कि ज़रूरतों पूरी करने लायक स्टॉक होने चाहिए| इतना स्टॉक रखें कि आपके दुकान कि अलमारियां और डिस्प्ले दोनों खाली  न रहें|
  • अलग अलग जगहों से अपना स्टॉक मंगाएं|
  • स्थानीय कारीगरों के पास जाएं, ट्रेड फेयर में जाएं और Etsy (या ऐसी ही कोई वेबसाइट ) पर देखें|
  • आपको शुरुवात करने के लिए विक्रेताओं से मिलना होगा जिनसे कपड़े लेकर आप दुकान में बेच सकें|  ट्रेड शो से अपने दुकान के लिए होलसेल में सामान लाना आपके लिए सबसे बेहतरीन विकल्प है| ट्रेड शो में कई तरह के सप्लायर से मिलेंगे, उनसे जुड़ पाएंगे और उनके पास के सभी कपड़ों को देख पाएंगे|
  • आर्डर करने से पहले यह ध्यान में रखें कि दुकान खोलते वक़्त आपको कितने रुपयों कि जरुरत होगी और आपको अपने दुकान में कितने स्टॉक रखने होंगे| मौसम के हिसाब से और चर्चित स्टाइल और ब्रांड के हिसाब से कपड़े रखें| आपको अलग अलग तरह के कपड़े रखने होंगे ताकि अधिकतर ग्राहकों को आपके यहाँ से कपड़े मिल जाएं पर कुछ लोगों के कारण अपने स्टॉक में ऐसे कपड़े न रखें जिनकी बिक्री काम होती हो| आपको सभी ग्राहकों को संतुष्ट करने की जरुरत नहीं|
  • आपको अपने कपड़ों का सही मूल्याङ्कन करना होगा| मूल्याङ्कन करने से आप अपना मुनाफ़ा तय कर लें, मार्केट में प्रचलित दाम पता कर लें, और डिस्काउंट देने के तरीकों को भी अच्छे से समझ लें|

8 ) बेचना चाहते हैं?

  • पहली बार के स्टॉक के लिए आपको 5 लाख – 10 लाख लगेंगे| पर यह आख़िरकार आपके व्यवसाय पर निर्भर करता है की आपका व्यवसाय कितना बड़ा है|
  • ध्यान रखें की आपका सभी सामान ग्राहकों की पसंदीदा हो- साड़ी, चूड़ीदार, पेटीकोट, ब्लाउज, लेहंगा, शर्ट, इत्यादि जिनकी मांग अधिक हो|

9 ) जरुरत पड़ने पर कार्यकर्ताओं को नियुक्त करें

  • जब आप नई नई शुरुवात करते हैं तब आपका बजट काम होता है, रूपए काम होते हैं जिसकी वजह से आप अधिक खर्च नहीं कर पते पर जब आपका व्यवसाय स्थायी हो जाए और आप अच्छा इनकम कमाने लगें तब आपको व्यवसाय को अच्छे से संभालने के लिए कार्यकर्ताओं को नियुक्त कर लेना चाहिए क्योंकि समय के साथ आपका व्यवसाय बढ़ेगा और उसे चलाने के लिए आपको मदद की जरुरत अवश्य होगी|
  • उन दुकानों के बारे में सोचें जहाँ आप पहले कपड़े खरीदने जाते थे| क्या सभी दुकान मालिकों द्वारा ही चलाया जाता था या वहाँ कार्यकर्ता भी थे और अगर थे तो कितने थे?

10 ) समय का ध्यान रखें

  • काम करने के लिए दिन के सही समय को चुनें|
  • ध्यान रखें की कपड़ों के दुकान का अधिकतर काम छुट्टियों के समय होता है|
  • कपड़ों के दुकान के मालिकों बहुत काम छुट्टियाँ मिलती हैं क्योंकि इसी वक़्त उनकी बिक्री अधिक होती है|
  • ऐसे समयों में काम करने के लिए तैयार रहें|

11 ) समय समय पर कपड़ों की सेल रखें और शुरुवात में डिस्काउंट दें

  • अपने दुकान के खुलने की खबर ज्यादा से ज्यादा लोगों को बताएं| आप अपने रिश्तेदारों, दोस्तों, सोशल मीडिया पर जिनसे जुड़े हुए हैं आप, सभी को अपने नए दुकान के बारे में मैसेज करें और उन्हें बताएं की उन्हें आपके दुकान पर क्यों आना चाहिए| शुरुवात में आपको हो सकता है थोड़ा अधिक डिस्काउंट देना पड़े|
  • सेल की मदद से आप काफी ग्राहक इकट्ठा कर सकते हैं|
  • सेल आप उन कपड़ों की बिक्री कर सकते हैं जिनकी बिक्री जल्दी नहीं होती|
  • छुट्टियों और त्योहारों के समय ग्राहकों को नए ऑफर दें ताकि वो आपके दुकान आने के लिए उत्सुक हों|

12 ) बहीखाता बनाना सीखें

  • अपने खर्च, फायदे, नुकसान, इनकम, इन सब के लिए आपको बहीखाता रखना होगा ताकि आपको अपनी ख़रीद, बिक्री का हिसाब रहे और इससे आपको टैक्स देने और GST फाइल करने में भी सहायता होगी| इसके लिए आप कोई इन्वेंटरी मैनेजमेंट एप्लीकेशन का इस्तेमाल कर सकते हैं|
  • Vyapar जैसे बिज़नेस एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर की मदद से आप अपने दुकान की अर्तव्यवस्था, लोन, खर्च, किराया, इनकम, सेल इत्यादि सभी चीज़ों का ट्रैक रख पाएंगे|

नए बिज़नेस टिप्स के उपदटेस के लिए जुड़े रहें Vyaparapp.in पर  

डाउनलोड करें बेहतरीन फ्री बिलिंग सॉफ्टवेयर

Happy Vyaparing!!!

You May Also Like

Leave a Reply