रिसेशन और ख़राब अर्थव्यवस्था में भी अपने व्यवसाय को बनाये रखने के लिए 10 तरीके

इसमें कोई शक नहीं की आने वाले दिनों में एक लंबा रिसेशन आने वाला है| आपके ग्राहक अपने बजट में कटौती करना शुरू करेंगे जिसका आपके ऊपर काफी बुरा असर पड़ सकता है| यह कहना गलत नहीं होगा रिसेशन का सबसे बुरा असर आप जैसे छोटे व्यापारियों पर पड़ता है|

आप शायद यह पढ़ना चाहेंगे: भारत में आने वाले रिसेशन की वजह से छोटे वयवसायों पर तीन तरीकों से असर पड़ सकता है

तो अगर आप आने वाले रिसेशन की तैयारी नहीं कर रहे हैं तो आपके व्यापार का चलते रहना बड़ा कठिन हो सकता है अतः आप असफलता की ओर बढ़ रहे हैं|

एक छोटे व्यवसाय का मालिक होने के नाते आपको रिसेशन से अपने व्यवसाय को बचाने  के लिए कैश इनफ्लो को बढ़ाना होगा और कैश ऑउटफ्लो को घटाना होगा|

 

चलिए शुरू करते हैं| आने वाले रिसेशन के समय रूपए बचा के अपने व्यवसाय को बचाने के उपाय नीचे दिए गए हैं:

 

1 ) अपना मासिक किराये कम करें|

सबसे पहले अपने मकान-मालिक से बात करके अपना मासिक किराये कम करवाए| उन्हें यह समझने की कोशिश करें की इसमें आप दोनों का फायदा होगा|

जरुरत पड़ने पर किराये कम करवाने के लिए एक लंबा लीज़  समझौता भी कर सकते हैं| आपका मकान मालिक अपनी जगह को महीनों खाली  रखने के बजाय आपको उसे कम किराये पर देने जाने के फैसले को ज्यादा बेहतर समझेगा|

 

2 ) अपनी ज़रूरतों के लिए सस्ते विक्रेता ढूंढे|

अपनी सभी आवश्यक ज़रूरतों जैसे पानी, बिजली, फ़ोन नेटवर्क, इंटरनेट ब्रॉडबैंड को ध्यान में रखें| अलग अलग विक्रेताओं से संपर्क करके पता करें की कौन सबसे सस्ता ओर अच्छा सौदा दे रहा है| उन्हें बताएं की आप अच्छे सौदे के लिए अपने वर्तमान विक्रेता को बदल सकते हैं|

उनके पास अवश्य ही अपने नए ग्राहकों के लिए छूट पर दिए जाने वाले सौदे होंगे जिनका प्रचार उन्होंने नहीं किया होगा| आपको बस उन्हें छूट के लिए आग्रह करने की जरुरत होगी| अपने वर्तमान विक्रेता से बात करें ओर बताए  की आपको सस्ते सौदे मिल रहे हैं ओर अगर वह नहीं चाहते की आप अपना विक्रेता बदले तो वह आपको उससे बेहतर सौदा देने की कोशिश करें|

 

3 ) बेफिजूल के खर्च कम करें|

  • लक्ज़री चीज़ो पे खर्च करना बंद करें|
  • उन चीज़ो पर खर्च ना करें जिनकी आपको जरुरत नहीं है|
  • अपने कार्यालय के लिए नयी चीज़े ख़रीदने बंद करने इसके बजाय आप सेकंड हैंड चीजें ख़रीद सकते हैं|
  • अगर आपके पास नियमित ग्राहक नहीं है तो किसी ऐसी जगह चले जाएँ जहाँ किराये कम हो ओर आपको न्यूनतम ग्राहक मिलें|
  • अपने कार्यकर्ताओं को सुविधाएँ, बोनस, देना बंद कर दें ओर जब आपको व्यवसाय में फायदा होना शुरू हो जाए  तब यह सारी सुविदाह्यें दोबारा शुरू कर दें|

 

4 ) या तो सेकंड हैंड का विकल्प ढूंढे या लीज पर ले लें|

अगर आपको अपने कार्यालय के लिए कंप्यूटर या फर्नीचर की आवश्यकता हो तो उसे खरीदने के बजाय  लीज पर ले लें| सेकंड हैंड चीज़े लें अगर सामान की स्थिति सही हो तो| इस तरीके से आप काफी बचत कर पाएंगे| अपनी आय को सोच समझ कर खर्च करें|

लक्ज़री चीज़ो को जाने दें| रिसेशन के समय हल ही बंद हुए व्यवसाय की वजह से कई सेकंड हैंड कम्प्यूटर या फर्नीचर ओर कई सारी चीज़े  मिल सकती है|

 

5 ) किये जाने वाले भुगतान मे देरी करें|

आपके पास कैश होना आपके व्यवसाय के लिए बहुत आवश्यक है| अपने विक्रेताओं से बात करें ओर कोशिश करें की आप अपने भुगतान की तिथि को आगे बढ़ा सकें| अगर वो इस बात से सहमत ना हो तो कोशिश करें की आपको जल्दी भुगतान करने के स्वरूप में कुछ छूट मिल सके| अपने भुगतान की तिथि बढ़ाने के लिए आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल भी कर सकते हैं|

उदाहरण: अगर आपको अपने विक्रेता को 30 दिनों के अंदर भुगतान करना है तो आप उसे कैश, चेक, वग़ैरा से भुगतान करने के बजाय क्रेडिट कार्ड से कर सकते हैं| अधिकतर क्रेडिट कार्ड पर 60 दिनों तक बिना किसी ब्याज़ के भुगतान करने का विकल्प रहता है| इस तरीके से आप बिना किसी ब्याज को अपने विक्रेता को भुगतान कर सकते हैं ओर खुद के भुगतान के लिए अपने आप को 90 दिनों की मोहलत भी दे सकते हैं|

 

6 ) अपनी बकाया राशि सभी से जल्द से जल्द इकट्ठा कर लें|

अपने ग्राहकों को जल्दी भुगतान करने के लिए कुछ छूट दें|

उदाहरण: सभी को 30 दिन के बजाय 10  दिनों के अंदर भुगतान करने के लिए सामान्य रूप से 1 – 2 % की छूट दें |

  • रिसेशन के समय मुफ्त में उधार ना दें| आप कोई क्रेडिट कार्ड कंपनी नहीं चला रहे हैं| खुद को हानि पहुंचा कर अपने ग्राहकों को मुफ्त में उधार ना दें| रिसेशन के पास आपके पास मुफ्त मे उधार देने का विकल्प नहीं बचता है|
  • अपने सरे भुगतान समय पर लें| अपना बकाया भुगतान प्राप्त करने के लिए ग्राहकों भुगतान करने के लिए याद दिलाए|

 

7 ) अपने वर्तमान के ग्राहकों को अपने पास रखें|

  • अपने वर्तमान के ईमानदार ग्राहकों को बनाय रखने में कोई कटौती ना करें| आपके ग्राहकों को  आपके साथ व्यापार कर के अच्छा महसूस होना चाहिए|
  • अगर आप अपने सामान को सस्ते में नहीं दे रहे है तो कम से कम यह सुनिश्चित करे की आपके ग्राहकों यह यकीन हो की आपका सामान दूसरों के मुकाबले ज्यादा अच्छा है|  कोशिश करें की आपके ग्राहक आपके प्रतिद्वेंदियों के पास न चले जाएँ|

 

8 ) ग्राहकों से अच्छे रिश्ते बनायें|

  • अपने सबसे अच्छे ग्राहकों को कॉल, व्हाट्सप्प या कोई भेंट भेजें|
  • उन्हें बताएं की आप उनकी ईमानदारी और साझेदारी की सराहना करते हैं|
  • उन्हें यह जान कर ख़ुशी होगी की आप उनके साथ आगे भी काम करना चाहते हैं|
  • अगर अवसर मिले तो एक लम्बे समय की साझेदारी या समझौता करने की कोशिश करें साथ हीं उन्हें महत्वपूर्ण महसूस कराने के लिए उन्हें क़ॉफ़ी, चाय या भोजन पर ले  जाएँ |

अगर आप उनसे आमने सामने मिलकर बात करें, उन्हें तसल्ली दिलाए की वो आपके लिए महत्वपूर्ण है तो उन्हें भी आपके साथ व्यवसाय करने से इंकार करने में झिझक होगी|

 

9 ) अपने पास रखी सामान की संख्या काम करें

रिसेशन के वक़्त जरुरत से अधिक सामान अपने पास रखना समझदारी नहीं होगी| आपको सभी वस्तु की 50 इकाई (यूनिट) की ज़रुरत नहीं होगी| इसलिए अपनी आय स्टॉक को बढ़ने में न लगाए|

  • अपने स्टॉक को काम करें और अपने पास कैश अधिक रखें|
  • अब जब आपको सिर्फ ज़रूरतमंद सामान अपने पास रखना है तो यह अच्छा समय है उन वस्तुओं की बिक्री करने का जो आपके पास काफी समय से पड़ा हुआ है और जिसमे आपको मुनाफ़ा नहीं मिल पाया है| किसी ऐसे विक्रेता की तलाश करें जो इन्हें खरीदने या वापस लेने को तैयार हो|
  • अपने बेहतरीन बिकने वाले सामान की संख्या बढ़ाएं और उन वस्तुओं की संख्या कम करें जिनकी बिक्री नहीं हो रही और जिसपर आप मुनाफ़ा नहीं कमा रहे|

 

10 ) अपना मुनाफ़ा (प्रॉफिट मार्जिन ) काम करें

रिसेशन के वक़्त आपके ग्राहक अलग तरीके से खर्च करते हैं| मूल्यों को थोड़ा काम करें ताकि आपके ग्राहकों की मांग बानी रहें और साथ हीं इस बात का भी ध्यान रखें की आपको नुकसान न उठाना पड़े|

ऐसी अर्थव्यवस्था में अपने व्यवसाय को कायम रखना कठिन है पर नामुमकिन नहीं| इन सब तरीकों का पालन करके आप अपने व्यवसाय को पहले से 100 गुना अच्छे तरीके से संभाल  पाएंगे|

 

आपके इस बारे में क्या विचार हैं कृपया नीचे कमेंट कर के बताएं|

 

 

GST से संबंध्ति और नई खबरों के लिए बने रहें हमारे साथ Vyaparapp.in पर।

बेहतरीन GST Accounting Software डाऊनलोड करें 

Happy Vyaparing!!!

vyaparapp, business accounting, invoicing app. billing, create invoice

 

You May Also Like

Leave a Reply