10 छोटे व्यावसायिक योजना जो छोटे शहरों और गावों में भी किया जा सकता है


आज भी भारत की अधिकतम जनसंख्या गावों में रहती है| गाँव और शहर में व्यवसाय के लिए अलग अलग प्रावधान होते हैं| यह बात सत्य है कि किसी भी व्यवसाय के लिए अलग ही व्यवस्था की आवश्यकता होती है अलग ही ज़रूरतों हैं| पर इसका मतलब यह नहीं की ग्रामीण क्षेत्रों में व्यवसाय का कोई अवसर नहीं है|

ग्रामीण क्षेत्रों में भी व्यवसाय के कई अवसर हैं| कई व्यवसाय ऐसे हैं जो सिर्फ ग्रामीण क्षेत्रों में हीं किये जा सकते हैं जैसे की कृषि से सम्भदित व्यवसाय|

गाँव में स्थित किसी इंसान के लिए अपने गाँव में हीं अपना व्यवसाय शुरू करना फ़ायदेमंद होगा| अपने क्षेत्र में व्यवसाय शुरू करने में आपका अधिक खर्च भी नहीं होगा और आप अपने व्यवसाय का प्रचार भी अच्छे से कर पाएंगे क्योंकि वहां सभी आपके पहचान वाले होंगे|

 

अगर आप ऐसे ही किसी ग्रामीण क्षेत्र में रहते हैं और आप अपना व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो नीचे दिए यह व्यावसायिक योजनाएं आपकी मदद करेगा:

1)आर्गेनिक उत्पादन

2)पोल्ट्री फार्म

3) मछली पालन

4) दूध सेंटर

5 ) फ़र्टिलाइज़र की दुकान

6) पीने  का पानी सप्लाई करना 

7) दुकान

8) आटा चक्की

9) थ्रेशिंग मशीन

10) तेल मिल

 

1)आर्गेनिक उत्पादन

Related image

  • आजकल उत्पादन बढ़ाने के लिए लोग वैक्सीन या दवाइयों का सहारा लेते हैं जिसके कारण फल या सब्ज़ियाँ समय से पहल हीं बेचने लायक हो जाते हैं और उनका वजन  भी बढ़ जाता है| इससे लोग अधिक राशि कमा पाते हैं और इन्हीं कारणों से आर्गेनिक पदार्थों की मांग बढ़ती जा रही है|
  • आप अपना आर्गेनिक फार्मिंग शुरू कर सकते हैं और अपने उत्पादों उन बाज़ारों में बेच सकते हैं जहाँ इनकी मांग अधिक हो| इसके लिए आप किसी विक्रेता का सहारा ले सकते हैं जो आपके उत्पादों की बिक्री में आपकी मदद करे और आपको बिक्री करने में ज्यादा परेशानी न हो|
  • आप चाहें तो अपने उत्पादों को खुद हीं बाजार में बेच सकते हैं पर शुरुवात में आपको किसी विक्रेता की सहायता लेनी चाहिए क्योंकि आप दूसरे खरीददारों को अच्छे से नहीं जानते होंगे| हो सकता है की जब आप अपने उत्पादों की बिक्री खुद से करने जाएँ तो आपको सही दाम न मिलें या ऐसा मार्किट नहीं मिले जहां आप अपने उत्पादों को बेच सकें| साथ हीं अगर आप किसी विक्रेता की मदद नहीं लेंगे तो आपका खर्च बढ़ जायेगा| आपको सामान के ट्रांसपोर्टेशन का उसे सुरक्षा पूर्वक रखने का इत्यादि सभी का खर्च आपको हीं उठाना होगा| फल सब्जी जैसी चीज़ें जल्दी ख़राब हो जाती हैं इसलिए इन्हें जल्द से जल्द बेच देने में हीं आपकी भलाई होगी क्योंकि आपके पास शुरुवात में इन्हे रखने का सही प्रावधान उपलब्ध न हो| इसलिए बेहतर यही होगा की आप पहले ही इसे विक्रेता को दे दें और अपने व्यवसाय को किसी जोखिम में न डालें|
  • बाद में जब आपने अपने व्यवसाय को अच्छे से बढ़ा लिया हो और व्यवसाय की अच्छी समझ ले ली हो तब आप विक्रेता को अपने और अपने ग्राहकों के बिच से हटा सकते हैं| समय के साथ आपको व्यवसाय की अच्छी समझ हो जाएगी और इसकी प्रविर्ती, ज़रूरतों इत्यादि से अच्छी तरह से वाक़िफ़ हो जायेंगे| साथ हीं आप बढ़ते व्यवसाय के साथ अपने व्यवसाय के लिए ट्रांसपोर्ट और स्टोर करने की जगह बना चुके होंगे|

 

२) पोल्ट्री फार्म

  • पोल्ट्री फार्म खोलने के लिए आपको अधिक ज़मीन की आवश्यकता नहीं होगी| आप खुद से या किसी और के साथ मिलकर भी अपना यह व्यवसाय आसानी से शुरू कर सकते हैं| आपको छोटे छोटे मुर्गी के बच्चों को कुछ समय तक पालना  होगा और जब वो बेचने लायक हो जाएं तो आप उन्हें बेच सकते हैं|
  • सुरुवाती दौर में आप व्यवसाय को किसी विक्रेता के साथ कॉन्ट्रैक्ट पर शुरू कर सकते हैं| इसमें आपको विक्रेता द्वारा मुर्गी के बच्चे उनका भोजन इत्यादि सब प्रदान किया जायेगा और आपको उन्हें निर्धारित समय तक पालना  होगा| समय अवधि महीनों या वजन के आधार पर तय की जा सकती है| आपको अपना पेमेंट भी उनके वजन या उनकी गिनती के मुताबिक किया जायेगा|
  • शुरू में सबकुछ खुद से न करने का सुझाव सही रहेगा| क्योंकि ऐसा करने में आपको बहुत पूँजी लगनी होगी और हो सकता है की इस वजह से आपको नुकसान का सामना करना पड़े क्योंकि आप व्यवसाय में नए होंगे और इसकी अधिक जानकारी आपके पास नहीं होगी| शुरू में हीं अपने व्यवसाय को जोखिम में डालना सही नहीं होगा इसलिए बेहतर यही होगा की आप कॉन्ट्रैक्ट पर इस व्यवसाय को शुरू करे|

 

३) मछली पालन

Related image

  • पोल्ट्री फार्म के जैसे हीं आप मछली पालन भी कर सकते हैं| आपको इसकी अच्छी समझ होनी चाहिए क्योंकि यह इतना आसान नहीं है|  मछली पालन के लिए आपके पास पर्याप्त जगह होना चाहिए| आपको बड़ी सावधानी बरतनी होगी क्योंकि आपकी एक भूल की वजह से आपको बड़ा नुकसान झेलना पद सकता है|
  • अगर किसी एक मछली को कोई बीमारी होती है या कोई इन्फेक्शन हो जाता है तो वह तालाब की सभी मछलियों में फैल जाता है इसलिए आपको इस व्यवसाय में जरुरत से ज्यादा सावधानी बरतनी होगी|
  • अगर आपकी मछलियों की मात्रा कम है तो आप इसे सीधे बाजार में बेच सकते हैं पर अगर मात्रा बहुत अधिक है तो आप इसे एक्सपोर्ट भी कर सकते हैं| आपको उन मछलियों को पालना  चाहिए जिनकी मांग अधिक होती है और जिनसे आपको अधिक फायदा हो, जैसे रहु, हीलिश, मांगुर, इत्यादि|

 

४) दूध सेंटर

Related image

  • गाँव में गाय और भैंसो का पालन बहुत आम बात है| बहुत सारी डेरी फार्म होती हैं जिन्हें अधिक मात्रा में दूध की आवश्यकता होती है| यह जरुरत वो दूध सेंटर से पूरी करते हैं| सेंटर का मालिक जाओंवालों से दूध लेकर इकट्ठा करता है और डेरी फार्म को देता है|
  • अपना सेंटर खोलने के लिए आपको किसी डेरी फार्म से टाई-उप करना होगा| उनके साथ मिलकर आप अपना सेंटर खोल सकते हैं| 
  • सेंटर खोलने के लिए आपके पास एक अच्छी जगह होनी चाहिए जहाँ आप दूध नापने और तोलने वाली मशीन रख सके और साथ वह मशीन भी जिससे दूध का फैट इत्यादि नपा जाता है|
  • आपका थोड़ा बहुत शिक्षित होना आवश्यक है क्योंकि आपको रजिस्टर बनाना होगा और थोड़ा हिसाब किताब भी करना होगा| अपना एकाउंट्स संभालने के लिए आप बिलिंग सॉफ्टवेयर की भी मदद ले सकते हैं|
  • आपको दूध ले जाने वाले बर्तन की अच्छे से साफ सफाई करनी होगी ताकि दूध डेरी फार्म पहुँचने से पहले फटे न|
  • अपने ग्राहकों के साथ अच्छे रिश्ते बनायें रखें और उन्हें समय पर पैसे दें ताकि सभी आपके सेंटर हीं आएं|

 

५)फ़र्टिलाइज़र की दुकान

Image result for fertilizer store

  • क्योंकि खेती गाँव का प्रमुख व्यवसाय है तो ऐसे में फ़र्टिलाइज़र की दुकान खोलना या होलसेल खोला सबसे बेहतरीन विकल्प होगा|
  • आपको इस व्यवसाय के लिए शायद लाइसेंस की भी जरुरत हो| इससे जड़ी और बाकी सभी क़ानूनी जानकारियाँ आपको पता करनी होगी|
  • इस व्यवसाय में नुकसान झेलने के बहुत कम आसार हैं क्योंकि खेती में फ़र्टिलाइज़र अतिआवश्यक होता है और गाँव के अधिकतर लोग खेती करते ही हैं|
  • आप खाद्य के साथ बीज भी रख सकते हैं अपनी दुकान पर|
  • ध्यान रखें की आपके दुकान का अच्छे से प्रचार प्रसार हो क्योंकि इस व्यवसाय में पहले से भी कई और लोग होंगे जो आपके प्रतिद्वेंदी होंगे| कोशिश कर के ग्राहकों का ध्यान अपनी ओर केंद्रित करें|

 

६) पीने  का पानी सप्लाई करना

Image result for water cane

  • गाँव में पहले पानी के लिए नदी, नहर, हैंडपंप इत्यादि का इस्तेमाल होता था पर आजकल लगभग सभी लोग गाँव में भी पीने  के लिए पानी का कैन मंगवाने लगे हैं|
  • आप इस व्यवसाय को कम पूँजी में भी शुरू कर सकते हैं| यहां तक की आप इसका स्टोर अपने घर पर हीं खोल सकते हैं|
  • अगर संभव हो तो आप ४ चक्कों वाली एक छोटी गाड़ी ले सकते हैं जैसे टाटा महिंद्रा जिसमे आप पानी की बड़ी टंकी या कैन ले जा सकें|
  • डिलीवरी करने के लिए आप मोटरसाइकल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं| पर अगर आप घर घर जा कर डिलीवरी करने में असमर्थ हों तो लोगों को अपने घर पर या आपके स्टोर पर आकर कैन ले जाने का विकल्प दे सकते हैं|
  • ओर जैसा की आप उसी गाँव के निवासी हैं तो आपको अपने व्यवसाय के प्रचार में अधिक परेशानी नहीं होगी क्योंकि वहां सभी आपको पहले से हीं जानते होंगे|

 

७) खुदरा दुकान

Image result for retail shop india

  • एक खुदरा दुकान खोलने का विकल्प आपके पास हमेशा ही रहेगा| आप चाहें  तो किराना दुकान खोल सकते हैं, या कपड़े की दुकान, हार्डवेयर की दुकान, इत्यादि|
  • आप एक सलून भी खोल सकते हैं|
  • टेलरिंग की दुकान खोलना भी एक विकल्प है|
  • दूसरे और कई विकल्प हैं आपके पास हैं जो काफी आम हैं जैसे मिठाई की दुकान, फल और सब्जियों की दुकान, इत्यादि|

 

८)आटा चक्की

Image result for flour mill india

  • शहरों में लोग पिसा हुआ आटा खरीदते हैं पर गाँव में लोग आटा चक्की पर गेहूं पीसकर आटा लाते हैं क्योंकि ज़्यादातर लोग गेहूं की खेती करते हैं|
  • अगर आप चक्की खोलते हैं तो वहां गेहूं हीं नहीं बल्कि हल्दी, मिर्ची, मक्का, धनिया इत्यादि पीसने की भी मशीन रखें|
  • आप छुड़ा कूटने की भी मशीन रख सकते हैं| ध्यान रखें की आपके चक्की पर बिजली बराबर रहती हो| 
  • ग्रामीण क्षेत्रों में लोग ज़्यादातर ये सारी चीज़ें दुकान या बाजार से नहीं खरीदते हैं क्योंकि इंसबकी खेती होती हैं उनके यहाँ|
  • अगर आप सभी चीज़ों की सुविधा एक हीं जगह प्रदान करें तो आपके लिए बहुत फ़ायदेमंद होगा|

 

९)थ्रेशिंग मशीन

Related image

  • अगर आपके पास पर्याप्त पूँजी हैं तो उसे एक ट्रेक्टर खरीदने में लगा सकते हैं| ट्रेक्टर के साथ आप थ्रेशिंग मशीन, बीज बोने वाली मशीन इत्यादि ख़रीद सकते हैं| यह सब गाँव में सभी लोग अपने पास नहीं रखते हैं बल्कि भाड़े पर लेते हैं|
  • यह काफी फ़ायदेमंद होगा क्योंकि कृषि में इसकी आवश्यकता हमेशा हीं होती हैं फिर चाहे वो जोताई हो, बुनाई हो या कटाई|
  • इन सबके साथ साथ आप चाहें तो पम्पिंग सेट भी रख सकते हैं| इससे आपके पास सभी सुविधाएँ होंगी और सभी आपके पास आना चाहेंगे क्योंकि आपके पास सभी सुविधाएँ उपलब्ध होगी|

 

१०) तेल मिल

Image result for oil mills india

  • ज्यादा तेल मिल न होने के कारण लोगों को काफी दूर जाना होता हैं तेल रिफाइन कराने या फिर उन्हें कम दाम में हीं अपने उत्पाद को बेचना पड़ता हैं|
  • अगर आपके पास पर्याप्त पूँजी हो तो आप एक तेल मिल खोल सकते हैं|
  • गाँव में लोग सरसों, सोयाबीन, मूंगफली इत्यादि सभी अपने खेत में उपजाते  हैं और इसी वजह से वो अपने इस्तेमाल के लिए तेल मिल से हीं रिफाइन करा कर आते हैं|
  • हो सकता हैं लोग अधिक मात्रा में तेल रेफिने न करायें यह सिर्फ उनके घरेलू इस्तेमाल के लिए होता हैं| साथ हीं तेल रिफाइन कराने के बाद जो सामान बच जाता है उसे लोग गाय के चारे के रूप में इस्तेमाल कर लेते हैं|
  • जैसा की यह सभी घरवालों के द्वारा किया जाता है तो आपको ग्राहकों की कमी कभी नहीं होगी|

 

यह कुछ ऐसे छोटे व्यवसाय हैं जो आप गाँव में शुरू कर सकते हैं| अपने पूँजी के आधार पर अपने व्यवसाय को चुनें| व्यवसाय को शुरू करने से पहले अपने प्रतिद्वेंदियों का ख्याल ज़रुर रखें|

Stay updated about the Latest Business Tips on Vyaparapp.in.

Download the BEST GST Billing Software Free

Happy Vyaparing!!!

You May Also Like

Leave a Reply