10 परेशानियाँ जिसका सामना हर छोटे व्यापारी को करना होता है(और इन्हें कैसे ठीक किया जाये)

क्या आपने कभी भी किसी व्यापारी को आराम से उनका व्यवसाय चलाते देखा है? बहुत काम, क्यों? 

क्योंकि व्यावसायिक समस्याओं को सुलझाने के लिए आपको होशियार बनना होगा|

ऐसा अनुमान लगाया गया है की 40% छोटे व्यापारियों को अपना व्यवसाय पहले साल में हीं बंद करना पड़ता है और 50% व्यापारी 2 साल से अधिक अपना व्यवसाय नहीं चला पाते और उन्हें अपना व्यवसाय बंद करना पड़ता है| यह बहुत हीं दुखद सच है|

व्यापारियों का जीवन तनाव और परेशानियों से भरा होता हैं पर अगर व्यवसाय को सही से चलाया जाये तो ढेरों उपहार मिलने की सम्भावना है| दरअसल काफी व्यावसायिक समस्याओं का समाधान उपलब्ध है|

 



व्यापारियों को होने वाली 10 आम परेशानियाँ और उन्हें ठीक करने के तरीके यहाँ दिए गए हैं:

1) बहुत कम समय में बहुत कुछ करना

90% लोगों की यह आम परेशानी है| इस प्रतिस्पर्धी दुनिया में आपका समय बहुत जल्दी ख़तम हो जायेगा| व्यवसाय चलाना बहुत हीं थकाऊ है और इसमें आपकी सोच से अधिक समय लगता है| अपने व्यवसाय का ख्याल रखने के लिए आपको एक साथ कई काम करना आना चाहिए|

कई व्यापारी तो अपने कर्मचारियों से भी अधिक काम करते रह जाते हैं| उन्हें काम के अलावा आराम करने और परिवार के साथ समय बिताने में भी डर लगता है|

इसकी वजह से आपको अपने व्यवसाय के अधिकतम काम जैसे ग्राहकों को अटेंड करना, कॉल उठाना, मार्केट से सामान लाना इत्यादि खुद हीं करना पड़ता है| और क्या आपको नहीं लगता की अगर आपने अपने समय को सही से मैनेज नहीं किया तो आपको व्यवसाय चलाने में काफी परेशानी होगी?

उपाय:

  • जो लोग अपना समय सही से मैनेज कर पते हैं वही खुदको दूसरों से बेहतर कर पाते हैं| आप पहले समझें की आप हर दिन अपना समय कैसे बिताते हैं और उसके बाद सोचें की क्या आप इसे और अच्छे तरीके से कर सकते हैं|
  • जैसे की अगर आप अपना अधिकतर समय एकाउंट के लेन देन जोड़ने में लगा रहे हैं तो यह काम सॉफ्टवेयर की मदद से जल्दी और अच्छे तरीके से किया जा सकता है| इन कामों को खुद से करने के बजाय Vyapar  जैसे एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर की मदद लें| इससे आप अपना काफी वक़्त बचा पाएंगे|
  • महत्वपूर्ण कार्यों को चुनें और उनपर ध्यान केंद्रित करते हुए पहले उन्हें पूरा करें| जो कार्य अधिक महत्वपूर्ण नहीं है उन्हें आप अपने किसी कर्मचारी को करने कह सकते हैं| कुछ बिज़नेस एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर जैसे की Vyapar आपको अपने व्यवसाय का दूर रहकर भी  ध्यान रखने में आपकी मदद करता है| इसका उपयोग करें|

2) बाजार के उतर चढ़ाव

अगर आप मार्केट ट्रेंड पर ध्यान नहीं दे रहे तो जल्द ही आपका व्यवसाय संकट में पड़ सकता है| नए प्रोडक्ट मार्केट में अच्छे क्वालिटी, डिज़ाइन, दाम और अच्छे फीचर्स के साथ आता है| नए व्यापारी मार्केट में बिक्री के नए तरीकों के साथ आ सकते है| इन सब कारणों की वजह से आप अपने मार्केट शेयर और ग्राहक दोनों को खो सकते हैं|

उपाय

  • हमेशा अपनी इंडस्ट्री और प्रतिद्वेंदियों पर ध्यान दें|
  • जानें की नया क्या है, मार्केट में किसकी बिक्री अधिक हो रही है, आपके ग्राहक क्या चुन रहे हैं|
  • अपने इंडस्ट्री में होने वाले सभी बदलाव की खबर रखें और उन्हें अपनाएं|

3) मुश्किल बिज़नेस एकाउंटिंग काम

जी हाँ, एक छोटे व्यापारी होने का मतलब है ढेर सरे ट्रांसक्शन और डीलिंग का ट्रैक रखना| एकाउंटिंग डिग्री या फाइनेंस का बैकग्राउंड न होने के कारण अपने व्यवसाय के सेल/परचेस ट्रांसक्शन को सही तरह से मैनेज करने में कठिनाई होना लाज़मी है|

10 में से 3 व्यापारी को अपना खाता  सही से नहीं मेन्टेन करने की वजह से नुकसान का सामना करना पड़ता है| अगर आप खुद से सभी एकाउंटिंग का काम करते है जैसे ट्रांसक्शन ट्रैक करना,GST रिपोर्ट बनाना, लेन देन का हिसाब करना  और ऐसे कई मुश्किल कामों में आपको परेशानी होगी|

उपाय

  • बिज़नेस एकाउंट्स हैंडल करना कठिन है इसलिए कई छोटे व्यापारी बिज़नेस एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर की मदद लेते हैं जैसे की vyapar या Tally |
  • tally थोड़ा कठिन है और सिर्फ डेस्कटॉप पर काम करता है|
  • लेकिन vyapar स्मार्टफोन में भी इस्तेमाल किया जा सकता है| इसे इस्तेमाल करना काफी आसान है, इसमें आप इन्वेंटरी और कैश फ्लो ट्रैक कर सकते हैं, रिपोर्ट्स लें सकते है, टैक्स एस्टीमेट कर सकते हैं, इनवॉइस बना सकते हैं और भेज भी सकते हैं, और भी बहुत कुछ कर सकते हैं| इसलिए होशियार बनें और इसका इस्तेमाल करें|

4) ग्राहकों से पेमेंट लेना

सभी व्यापारी इस बात से सहमत होंगे! सभी ग्राहक समय से पेमेंट नहीं करते हैं वे कई बहाने देते हैं पेमेंट समय पर नहीं करने के लिए|

कुछ ग्राहकों के पेमेंट करने के तरीके हीं अलग होते हैं, आप कितना भी बोलते रहे वे अपने समय से और अपने अनुसार हीं पेमेंट करेंगे और उन्हें बार बार पेमेंट के लिए याद दिलाना आपकी ज़िम्मेदारी बन जाएगी| कुछ ग्राहक कठिन परिस्थितियों की वजह से पेमेंट करने में असमर्थ होते हैं| कैश फ्लो कम होना और लेट पेमेंट आना, इन दोनों कारणों की वजह से आपके व्यवसाय की बढ़त में रूकावट आ सकती है|

उपाय

  • किसी भी ग्राहक को उधार देने से पहले उसके बारे में अच्छे से जांच पड़ताल कर लें की वह आपको उधार वापस करेगा या नहीं और क्या वह विश्वास करने लायक है या नहीं|
  • अगर आप उधार देते भी हैं तो एक सिमा तक दें| कभी भी ग्राहकों को बहुत ज्यादा उधार न दें|
  • अगर आपने किसी ग्राहक को उधार दिया है और पेमेंट का इंतज़ार कर रहें हैं तो उन्हें पेमेंट रिमाइंडर भेजें|
  • कुछ ग्राहकों के ऊपर अधिक ध्यान देना पड़ता है| उनसे रेगुलरली बात करें और पेमेंट के बारे में याद दिलाते रहें|
  • vyapar जैसे बिलिंग एप्लीकेशन की मदद लें जिससे की आपके ग्राहकों को अपने आप पेमेंट रिमाइंडर भेज दिया जायेगा|

5) प्रतिद्वेंदी कम दाम पर बेच रहें हैं

किसी भी प्रकार की इंडस्ट्री में प्रतिद्वेंदी बहुत होते हैं| अगर आपके प्रतिद्वेंदियों ने अपने दाम कम  कर लिए तो आपके ग्राहक वहां चले जायेंगे| कम दामों की ओर भारतीय ग्राहक बड़ी आसानी से आकर्षित हो जाते हैं| यह #1 कारण है की क्यों आपके ग्राहक आपको छोड़कर आपके प्रतिद्वेंदियों के पास चले जाते हैं|

उपाय:

  • पता करें की क्यों आपके ग्राहक आपके प्रतिद्वेंदियों के पास जा रहे हैं| अगर यह प्राइस की वजह से हो रहा है तो देखें की इसे आप कैसे ठीक कर सकते हैं|
  • खुद को अपने प्रतिद्वेंदियों से अलग करें| कोशिश कर के दाम काम करें ओर अच्छी सर्विस प्रदान करें
  • अपने अच्छाईयों पर ध्यान दें| सूची बनायें की आपके व्यवसाय की सबसे अच्छी क्वालिटी क्या है|
  • अपने व्यवसाय का प्रचार अपने प्रतिद्वेंदी से अधिक अच्छे तरीके से करें|

6) बड़ी कंपनियों की वजह से ग्राहकों का छूटना

यह बात माननी हीं पड़ेगी की बड़ी कंपनियां अपना प्रचार ज्यादा अच्छे तरीके से करती है|उनके पास अच्छे दाम होते हैं| उनका ऑनलाइन व्यवसाय भी काफी अच्छा होता है| उन तक पहुँचने में अधिक समय नहीं लगता| यही कारण है की भारत में 10 में से 3 ग्राहक बड़ी कंपनियों से ऑनलाइन आर्डर करते हैं| क्या आपको नहीं लगता की इस सबसे आपके व्यवसाय को खतरा है?

उपाय:

  • अपने ग्राहकों के साथ अच्छे रिश्ते बनायें| उनके साथ अच्छा बर्ताव करें| देखा गया है की 10 में से 9 ग्राहक दोबारा नहीं आते अगर उनके साथ अच्छे से बर्ताव नहीं किया जाता तो|
  • ग्राहकों की संतुष्टि हीं आपकी प्राथमिकता होनी चाहिए|
  • अगर आप ऑनलाइन नहीं हैं तो आपके ग्राहकों के लिए तो आपका अस्तित्व हीं नहीं है| अपने व्यवसाय को google maps ओर सोशल मीडिया पर दर्शाएं|
  • Facebook , Instagram , बहुत अच्छे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म हैं अपने व्यवसाय का प्रचार करने के लिए|
  • ऑनलाइन होने की वजह से आपको अधिक संख्या में ग्राहक मिलेंगे ओर आप अधिक से अधिक ग्राहकों तक पहुँच पाएंगे|

 

7) मददगार लोगों का नहीं पता होना

7) मददगार लोगों का नहीं पता होना

दिया गया हर सुझाव सही नहीं होता| जब आप अपने व्यवसाय के बारे में कोई फैसला लेना चाहते हैं तो आपको मदद की जरुरत पड़ेगी| दुखद बात यह है की भारतीय व्यापारी कई बार गलत लोगों से मदद लेते हैं या मदद लेते हीं नहीं हैं| हमें सरकार के द्वारा दिए जाने वाले कई फ़ायदों के बारे में नहीं पता, ओर कई GST नियमों के बारे में भी नहीं पता ओर भी बहुत कुछ|

उपाय:

  • सुझाव लेने से डरे नहीं|
  • बिज़नेस एसोसिएट्स को ज्वाइन करें, FB बिज़नेस ग्रुप से असिसटेंट लें(यहाँ जाएँ- Indian Small Business FB Group ), बिज़नेस कम्युनिटीज से जुड़े|
  • प्रोफेशनल लोगों की मदद लें| अच्छे एकाउंटेंट ओर लॉयर से हमेशा सम्पर्क में रहें|
  • अपने ही जैसे व्यापारियों से सुझाव लेना अच्छा होगा| हो सकता है उन्होंने भी वही सब झेला हो जो आप झेल रहे हों|

8) नयी चीज़ों के लिए छोटा बजट

कई बार छूटे व्यापारी अपना व्यापार अपनी जमा पूँजी से शुरू करते हैं| व्यवसाय को चलाने में अक्सर बजट से अधिक पूँजी की जरुरत पड़ जाती है ओर इसी वजह से व्यवसाय को बंद करना पड़ता है|

10 में से 4 छोटे व्यवसाय इन्हीं कारणों की वजह से अपने व्यवसाय के पहले साल में हीं असफल हो जाते हैं|

उपाय

  • बजट को हिसाब से सेट करें|
  • हिसाब करें की आप हर रोज़ कितना कमा ओर गवा रहे हैं|
  • फ़ाइनेंशियल रिपोर्ट, खर्च ट्रैक करना, बिल भरना करना इत्यादि चीज़ें शुरवाती दौर में आपके व्यवसाय के लिए बहुत आवश्यक होंगे|
  • सोच समझ कर फैसला लें ताकि आपको नुकसान न झेलना पड़े|

 

यह सब खुदसे करने में परेशानी हो रही है? इस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करें|


9) सेल ओर मार्केटिंग का ज्ञान न होना

भारत के छोटे व्यापारी बजट कम होने के कारण मार्केटिंग पर अधिक ध्यान नहीं देते| आपको लगता होगा की यह ज़रूरी नहीं है पर ऐसा नहीं है| लोगों को अपना अस्तित्व बताने के लिए मार्केटिंग करना आवश्यक है नहीं तो आप किसी नए ग्राहक को नहीं ला पाएंगे|

उपाय

  • जहाँ भी आपके ग्राहक हों वहाँ रहने की कोशिश करें|
  • आपके मौजूदा ग्राहकों के द्वारा दिया फीडबैक नए ग्राहक को दिखाए| 
  • ग्राहकों से खुद संवाद करें ताकि आप खुद को सबसे अलग कर सकें|
  • हर ग्राहक आपकी प्राथमिकता होनी चाहिए फिर चाहे उनसे आपको अधिक पेमेंट मिले या नहीं मिले|
  • अपने ग्राहकों के साथ विस्वश्नीय रिश्ता बनायें|

10) कम कैशफ्लो 

कैश फ्लो की दिक्कत तब आती है जब आप अपना एकाउंट सही से मैनेज नहीं करते ओर अपने ग्राहकों से पर्याप्त आय नहीं जमा कर पाते हैं| कैश फ्लो को बराबर बनाये रखना हीं सबसे बड़ी दिक्कत होती है| अपने व्यवसाय को सफलतापूर्वक बनाये रखने के लिए आपको यह ध्यान देना होगा की अधिक पैसे आएं ओर कम बाहर जाएँ|

उपाय

  • अपने कैश फ्लो को बराबर चेक करते रहें| एरर न करने के लिए सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करें
  • हर संभव जगह से खर्च कम करें|
  • उपकरणों को खरीदने के बजाये लीज़ पर लें|
  • अपने वेंडर को पेमेंट देर से दें|
  • डिजिटल पेमेंट के इस्तेमाल से जल्दी पेमेंट लें|

 

क्या आप अपने व्यवसाय में ओर किसी परेशानी का सामना करते हैं? कृपया नीचे कमेंट करें

Stay updated about the Latest Business News/Tips on Vyaparapp.in.

Download the BEST Billing and Accounting Software

Happy Vyaparing!!!

You May Also Like

Leave a Reply