GST से  जुड़ी नयी  ख़बर: GSTR-9, GSTR-9C की  ड्यू डेट (फिरसे) बढ़ाई गयी 

GSTR-9 Deadline

वित्त  वर्ष (FY) 2017-18 के  लिए GSTR -9 और GSTR -9C फाइल  करने की नियत तारीखों (ड्यू डेट) को  30 Nov, 2019 से 31 Dec, 2019 तक बढ़ाया गया  है|

और, वित्त  वर्ष 2018-19 के  लिए GSTR-9 और GSTR-9C को  31 Dec, 2019 से 31 March 2020 तक  बढ़ाया गया है|

अब  आपको  अपनी चिंताओं  को दूर करने के  लिए अतिरिक्त समय का  उपयोग करना चाहिए और यह  सुनिश्चित करना चाहिए की विस्तारित  नियत तारीख (एक्सटेंडेड ड्यू डेट) से पहले   रिटर्न फाइल किया जाए|


✔  GSTR-9, GST करदाता  द्वारा वार्षिक रूप  से दायर किया जाने वाला  एक GST वार्षिक रिटर्न है|
✔  GSTR -9C उन  लोगों द्वारा  दायर किया जाता  है जिनका वार्षिक  कारोबार 2Cr रुपये से  अधिक है|

रिपोर्ट के  अनुसार केवल  15% करदाताओं ने  अपना वार्षिक रिटर्न  GSTR-9 दर्ज किया है और  1% से कम ने GSTR-9C दायर  किया है|

GSTR-9 और  GSTR-9C देय तिथि  (ड्यू डेट) बढ़ाने के  संभावित कारण
✔ फॉर्म के कुछ पहलू जटिल हैं|

✔ प्रदान  किए गए फ़ील्ड  को समझने और व्याख्या  करने में कठिनाई|
✔ विभिन्न  व्यावहारिक  चुनौतियां|

इसके  अलावा, GSTR -9 और  GSTR -9C फॉर्म अब फाइल  करना आसान है|
✔ अनिवार्य  फ़ील्ड के  बजाय अधिक वैकल्पिक  फ़ील्ड के साथ यह बहुत  सरल है|
✔ आपको  इनपुट, इनपुट  सेवाओं और पूंजीगत  वस्तुओं (कैपिटल गुड) पर  प्राप्त ITC का विभाजन प्रदान  करने की आवश्यकता नहीं है|
✔ आपको  आउटपुट  या इनपुट  की HSN स्तर  की जानकारी प्रदान  करने की आवश्यकता नहीं  है|

GOVT को  उम्मीद है  की GSTR-9 और  GSTR-9C को आसान  करने से और समय सीमा  को बढ़ाने की वजह से, सभी  GST कर-दाता अपने GSTR-9 और GSTR-9C को  समय से फाइल कर सकेंगे|

नए बिज़नेस टिप्स के उपदटेस के लिए जुड़े रहें Vyaparapp.in पर  

डाउनलोड करें बेहतरीन फ्री बिलिंग सॉफ्टवेयर

Happy Vyaparing!!!

 

You May Also Like

Leave a Reply