10 आसान स्टेप GSTR 3B फाइल करने के लिए

अगर  आपने अभी  तक GSTR 3B अभी  तक फाइल नहीं किया  है तो यह रहे 10 आसान  स्टेप जिसकी मदद से आप GSTR 3B फाइल  कर सकते हैं|

साथ  हीं जानिए  क्या है लेट  फ़ीस और पेनल्टी  ताकी आप समय से GSTR 3B फाइल  कर सके और पेनल्टी से बच सकें|

आप  शायद  यह भी  पढ़ना चाहेंगे: 

GSTR 3B क्या  है? किसे फाइल  करना चाहिए ? ड्यू डेट  और फ़ॉर्मेट 

GSTR 3B कैसे  फाइल करें?

स्टेप 1GST पोर्टल  पर लॉगिन करें|

 

स्टेप  2 ‘सर्विस’ > ‘रिटर्न’ > ‘रिटर्न  डैशबोर्ड’ पर जाएँ|

Vyapar Soft

स्टेप  3 – यह ‘फाइल  रिटर्न’ पेज को  डिस्प्ले करता है| दी  गयी सूची में से ‘फ़ाइनेंशियल  ईयर’ और ‘रिटर्न फाइलिंग पीरियड’ चुनें  जिसके लिए आप रिटर्न फाइल करना चाहते  हैं| ‘सर्च’ बटन पर क्लिक करें|

Free Billing

स्टेप  4 ‘मंथली  रिटर्न GSTR-3B’ टाइल  में ‘प्रिपेयर ऑनलाइन’ बटन  पर क्लिक करें|

GST App

स्टेप  5 – सभी  टाइल में  वेल्यू डालें| सभी  शीर्षक के नीचे आपको  टोटल भरना होगा| अगर लागू  हो तो इंटरेस्ट और लेट फ़ीस  भी भरे|

 

स्टेप  6 – सभी  जानकारी भरने  के बाद पेज के  नीचे आखिर में दिए  ‘सेव GSTR-3B’ बटन पर  क्लिक करें| एक सफलता (सक्सेस) का  मैसेज पेज के ऊपर में दिखाया जायेगा|

Free gst billing

स्टेप  7 – एक बार  जब सभी जानकारियाँ  सेव कर दी जाती हैं  तो पेज के नीचे दिया ‘सबमिट’ बटन  इनेबल हो जाता है| ‘सबमिट’ बटन पर क्लिक  कर के फाइनल GSTR-3B को जमा करें|

एक  बार जब  आप सबमिट  कर देते हैं  तब आपको पेज के  ऊपर एक सफलता (सक्सेस) का  मैसेज मिलता है और आपके द्वारा  दी गयी सभी जानकारियों को सुरक्षित  कर दिया जाता है और इसके बाद आप किसी  भी जानकारी में कोई बदलाव नहीं कर पाएंगे| सबमिट  करने के बाद ITC और लायबिलिटी लैजर भी अपडेट हो जाते  हैं|

GSTR-3B का  स्टेटस ‘सब्मिटेड’ में  बदल जाता है|

Vyapar Application for billing

स्टेप  8 – रिटर्न  सफलतापूर्वक सबमिट  करने के बाद पेज के  नीचे आपको ‘पेमेंट ऑफ़ टैक्स’ इनेबल्ड  दिखेगा|

नीचे  दिए स्टेप  के आधार पर  अपना टैक्स दें  और लायबिलिटी ख़तम  करें:

  • ‘पेमेंट  ऑफ़ टैक्स’ टाइल  पर क्लिक करें|
  • रिटर्न  में जो टैक्स  लायबिलिटी दी गयी  है और क्रेडिट, दोनों  हीं लैजर में अपडेट हो जाते  हैं और पेमेंट सेक्शन के ‘टैक्स  पेयबल’ कॉलम में देखे जा सकते हैं| क्रेडिट्स  क्रेडिट लैजर में अपडेट हो जाते हैं और अपडेटेड  बैलेंस पेमेंट सेक्शन के में देखे जा सकते हैं|

GST Software

  • कैश और  क्रेडिट का  बैलेंस देखने  के लिए ‘चेक बैलेंस’ बटन  पर क्लिक करें| इस सुविधा से  करदाता पेमेंट करने से पहले बैलेंस  चेक कर पाते हैं|

Invoice soft

  • पिछले  पेज पर  जाने के लिए  ‘OK’ बटन पर क्लिक  करें|

Invoice billing

  • लिएबिलिटीज़  पे करने के  लिए क्रेडिट अमाउंट  प्रदान करें जो आपके  मौजूदा क्रेडिट में से  इस्तेमाल की जाएँ|
  • लिएबिलिटीज़  पे करने के  लिए ‘ओफ़्सेट लायबिलिटी’ बटन  पर क्लिक करें| इसके बाद एक  कन्फर्मेशन मैसेज आएगा उसके बाद  OK बटन पर क्लिक करें|

Inventory management

स्टेप  9 – डिक्लेरेशन  के लिए चेक-बॉक्स  सेलेक्ट करें| ऑथोराइज़्ड सिगनटोरी  की सूची से ऑथोराइज़्ड सिगनटोरी को  चुनें| ‘FILE GSTR-3B WITH DSC’ या ‘FILE GSTR-3B WITH EVC’ बटन  पर क्लिक करें|

GST Accounting

स्टेप  10‘प्रोसीड’ बटन  पर क्लिक करें|

GST Inventory

  • सफलतापूर्वक  फाइलिंग के बाद  एक मैसेज आएगा उसके  बाद ‘OK’ बटन पर क्लिक  करें|

Inventory accounting

  • GSTR-3B रिटर्न  का स्टेटस अब ‘फाइल्ड’ में  बदल गया होगा| आप GSTR-3B रिटर्न  देखने के लिए ‘VIEW GSTR-3B’ बटन पर  क्लिक कर सकते हैं|

GST Invoice

आप  शायद  यह भी  पढ़ना चाहेंगे:

GSTR 1 क्या  है? किसे फाइल  करना चाहिए, कैसे  फाइल करते है, ड्यू डेट  और लेट फाइल करने की फ़ीस 

अगर  आपने GSTR-3B फाइल  नहीं किया है तो आपको  eWay बिल नहीं मिलेगा 

नए बिज़नेस टिप्स के उपदटेस के लिए जुड़े रहें Vyaparapp.in पर  

डाउनलोड करें बेहतरीन फ्री बिलिंग सॉफ्टवेयर

Happy Vyaparing!!!

Inventory and Accounting

Share This Story

GST News, Hindi

You May Also Like

Leave a Reply