Home » GST » How to cancel GST registration in Hindi | जीएसटी रजिस्ट्रेशन को कैसे रद्द करें ?

How to cancel GST registration in Hindi | जीएसटी रजिस्ट्रेशन को कैसे रद्द करें ?

  • by
जीएसटी रजिस्ट्रेशन को कैसे रद्द करें ?

जीएसटी की अगर बात करें तो यह माल और सेवाओं के उपभोग पर लगने वाला टेक्स है, जो माल के बनने से लेकर उसके उपभोग तक में लगने वाले सभी चरणों का सिर्फ एक ही बार टेक्स लिया जाता है। पहले के समय की अगर बात करें तो वैट के नाम पर कई प्रकार के अलग-अलग कर लगाये जाते थे, जिसके कारण सामान का मूल्य काफी बढ़ जाता था। जब से जीएसटी को लागू कर दिया गया है, तब से ही सामान की कीमतों में कमी आई है, जिससे ग्राहकों पर इसका भार कम पड़ता है। 

भारत सरकार के कार्यान्वयन 1 जुलाई 2017 से जीएसटी प्रभाव में आया है और इसने केंद्र और राज्य सरकार के मौजूदा करों को बदल दिया है। जीएसटी रजिस्ट्रेशन के बारे में तो वैसे अधिकतर लोग भली भांति परिचित हैं, लेकिन बहुत से लोगों को जीएसटी रजिस्ट्रेशन रद्द करने व समर्पण करने के बारे में पता नहीं है। अगर आप भी जीएसटी रजिस्ट्रेशन कैंसल करने, रद्द करने या समर्पण करने से अंजान हैं, तो चलिए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से..

जीएसटी पंजीकरण के समर्पण- जीएसटी हर व्यक्ति पर लागू नहीं होता है। लेकिन जिस व्यक्ति की वार्षिक आय 20 लाख रूपये से अधिक है, उसे जीएसटी नंबर रद्द करने की आवश्यकता नहीं है। वहीं अगर जिस व्यक्ति की आय कम है, और किसी कारण वश उसका जीएसटी पंजीकरण हो रहा है, तो वह अपना जीएसटी पंजीकरण रद्द कर सकता है। यहां पर हम आपको बतादें कि जीएसटी पंजीकरण रद्द करने या समर्पण करने का मतलब है कि टैक्स देने वाले को न ही जीएसटी का भुगतान करना होगा और न ही जीएसटी लेना होगा। इसका सीधा-सा अर्थ यही है कि अगर आप जीएसटी के नियमानुसार करदाता श्रेणी में नहीं आते हैं, तो GST पंजीकरण को रद्द करवा कर टैक्स से बच सकते हैं।

नीचे दी गई जानकारी से हम समझने की कोशिश करेंगे कि जीएसटी नंबर बंद करने या समर्पण करने या रद्द करने की प्रक्रिया किस तरह से की जाती है? यदि आप जीएसटी पंजीकरण समर्पण करना चाहते हैं, तो आप इसे उसी वर्ष रद्द कर सकते हैं जिस वर्ष आपने अपना पंजीकरण कराया था। या फिर उसके बाद भी आप अपना जीएसटी पंजीकरण समर्पण कर सकते हैं। निम्नलिखित तीन तरीकों से जीएसटी पंजीकरण आत्मसमर्पण या रद्द किया जा सकता हैः

You would like to read in english click here: How to cancel GST registration in GST portal?

1. जीएसटी आत्मसमर्पण पंजीकृत व्यक्ति द्वारा अगर आप जीएसटी पंजीकृत हैं एवं जीएसटी के नियमानुसार अपना जीएसटी नंबर समर्पण करना चाहते हैं, तो इसके लिए आप दो तरह से अनुरोध कर सकते हैं। पहला तो यह है कि हमने आपको यह बता दिया है कि जिस व्यक्ति की वार्षिक आय 20 लाख रूपये से कम है वह जीएसटी पंजीकरण समर्पण के दायरे में आते हैं। वहीं अगर हम जीएसटी पंजीकरण समर्पण के दूसरे अनुरोध की बात करें तो इसके अंतर्गत कई मामले सामने आते हैं, जिसकी मदद से आप अपना जीएसटी पंजीकरण रद्द या समर्पण कर सकते हैं। चलिए इन कारणों को नीचे विस्तार से एक-एक करके समझने की कोशिश करते हैं।

  • व्यवसाय बंद होने की स्थिति में- बहुत बार ऐसा भी होता है कि व्यक्ति नुकसान के चलते अपना व्यवसाय बंद कर देता है। ऐसी स्थिति में करदाता अपना जीएसटी पंजीकरण समर्पण के लिए अनुरोध कर सकता है और टैक्स देने से बच सकता है।
  • नए व्यवसाय को खोलने की स्थिति में- कभी-कभी ऐसा भी होता है कि व्यक्ति अपने व्यवसाय से खुश नहीं होता है एवं उसे कई तरह का नुकसान झेलना पड़ता है ऐसी स्थिति में अगर वह उस व्यवसाय की जगह कोई दूसरा व्यवसाय खोलता है तो उसे नए व्यवसाय का जीएसटी पंजीकरण कराना होगा। एवं पुराने व्यवसाय का जीएसटी पंजीकरण का समर्पण करना होगा।
  • व्यवसाय में बदलाव- बहुत बार ऐसा भी होता है कि व्यक्ति के व्यवसाय में बदलाव आ जाता है उदाहरण के लिए एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी जब सार्वजनिक लिमिटेड कंपनी में बदल जाती है, तब उसके कारण निजी लिमिटेड कंपनी का जीएसटी पंजीकरण रद्द हो सकता है।

2. जीएसटी अधिकारी द्वारा- जीएसटी पंजीकरण का समर्पण अधिकारी द्वारा भी संभव है, जी हां आप टैक्स अधिकारी की सहायता से जीएसटी पंजीकरण रद्द करवा सकते हैं। लेकिन इस तरह से भी जीएसटी रद्द करने के नियम बनाए गए हैं। चलिए जानते हैं कि वह कौन से मुख्य मामले हैं जिनमें आप अधिकारी द्वारा अपना जीएसटी पंजीकरण रद्द कर सकते हैं।

  • जीएसटी पंजीकृत व्यवसाय बंद होना- जीएसटी पंजीकरण के समय कोई भी व्यवसाय का विवरण अगर दिया गया है, तो उसे वर्तमान में संचालित होना चाहिए। ठीक उसी प्रकार जीएसटी पंजीकरण समर्पण के समय व्यवसाय को पूरी तरह से बंद होना चाहिए। अर्थात् वह व्यवसाय वर्तमान में संचालित नहीं होना चाहिए।
  • क्रय और विक्रय का रिकार्ड जानकारी के लिए आपको बतादें कि जीएसटी के अनुसार व्यवसाय करने वाले प्रत्येक व्यक्ति को खरीद और बिक्री के दौरान मिलने वाले हर एक बिल को संभाल कर रखना चाहिए। यदि आपने इस पर ध्यान नहीं दिया तो यह जीएसटी के प्रावधानों का उल्लंघन है। ऐसा करने पर अधिकारी आपके जीएसटी पंजीकरण को रद्द करने में रूचि नहीं लेंगे। ऊपर बताये गए इन दो नियमों से यह तो पता चलता है कि करदाता को बड़े ही ध्यान से इस पर खरा उतरना होगा। उसके बाद ही टैक्स अधिकारी आपका जीएसटी पंजीकरण रद्द या समर्पण करने की ओर ध्यान देगा।

3. कानूनी किराय द्वारा जीएसटी आत्मसमर्पण – करदाता की मृत्यु के मामले में भी इसे रद्द किया जा सकता है। जी हां एकमात्र मालिक की मृत्यु के दौरान उसके कानूनी उत्तराधिकारी को क्षेत्राधिकार अधिकारी के कार्यालय पर जाना होगा और संबंधित अधिकारी के सामने सारे जरूरी दस्तावेज, जिनमें उत्तराधिकारी प्रमाणपत्र और करदाता का मृत्यु प्रमाण पत्र को सबूत के रूप में प्रस्तुत करना होगा। तो ऐसी स्थिति में भी जीएसटी पंजीकरण का समर्पण किया जा सकता है।

अस्थायी जीएसटी पंजीकरण रद्द करने के लिए कदम-

  • जीएसटी पोर्टल में लॉग इन करें और “अंतिम पंजीकरण रद्द करने” पर क्लिक करें। आपका GSTIN और व्यवसाय का नाम स्वचालित रूप से दिखाया जाएगा। यहाँ पर आपको जीएसटी पंजीकरण समर्पण करने का कारण देना होगा। यहाँ आपसे पूछा जाएगा कि क्या आपने महीने के दौरान कोई कर चालान जारी किया है?
  • आखिरी में आपको DSC या Submit with EVC बटन पर क्लिक करना होगा। इसके साथ ही आपके ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी। जिन करदाताओं ने जीएसटी बिल जारी किया हुआ है। तो उनको इस सेवा से मुक्ति पाने के लिए आवेदन के साथ FORM GST REG-16 भी दाखिल करना आवश्यक है। इसके फलस्वरूप ही वह अपना जीएसटी पंजीकरण रद्द कर सकता है।
  • अब आपको इसके लिए जीएसटी पोर्टल में लॉग इन करना होगा और रद्दीकरण के विकल्प पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आप जीएसटी REG फॉर्म भरें – बतादें कि जीएसटी पंजीकरण रद्द करने के लिए REG-16 आवेदन में देय धन का विवरण,  भुगतान का विवरण एवं  इनपुट और स्टॉक में रखी गई पूंजीगत वस्तुओं का विवरण दें।
  • GST पंजीकरण समर्पण करने या रद्द करने का कारण पूछने के बाद करदाता को नोटिस के 7 दिनों के अंदर फॉर्म REG– 18 में जवाब देना होता है।
  • सत्यापन के बाद आदेश GST REG – 20 में पारित किया जाएगा। अगर रद्दीकरण की पुष्टि की जाती है तो एक अधिकारी फॉर्म GST REG -19 के अनुसार आदेश जारी करेगा एवं इसके विपरीत अगर कोई CGST रद्द करता है तो SGST स्वचालित रूप से रद्द कर दिया जाएगा।

# GST रद्द करने का विकल्प कौन चुन सकता है?

जीएसटी पंजीकरण के नियमानुसार अगर आप भी इसका नंबर समर्पण करना चाहते हैं तो आपके भी मन में यह सवाल उठता होगा कि आखिर जीएसटी रद्द करने का विकल्प कौन चुन सकता है? तो चलिए जानते हैं कि निम्नलिखित परिस्थितियों में आप जीएसटी रद्द करने का विकल्प चुन सकते हैं।

  • GST रिटर्न की छः महीने के लिए गैर-फाइलिंग।
  • GST अधिनियम के अंतर्गत तीन माह के U/S 10 के लिए GST रिटर्न की गैर-फाइलिंग।
  • यदि कोई व्यावसायिक गतिविधि नहीं है अर्थात मालिक की मृत्यु होने पर या व्यवसाय का पूरी तरह से बंद या हस्तांतरित या ध्वस्त होने पर एवं किसी अन्य कानूनी इकाई के साथ समामेलित होने की स्थिति में।
  • गैर-कानूनी GST पंजीकरण (पंजीकरण धोखाधड़ी, बिल्कुल गलत विवरण या तथ्यों के दमन के द्वारा प्राप्त किया गया है)।
  • करदाता के मन मुताबिक या स्वैच्छिक निरस्तीकरण, उदाहरण- छः माह के लिए जीएसटी रिटर्न दाखिल न करना।
  • गैर-स्वैच्छिक/SUO मोटो रद्द करना।
  • व्यवसाय के किसी भी कर योग्य व्यक्ति को U/S 25 (3) और U/S 22 और 24 के अलावा GST अधिनियम में बदलें।

# GST रद्द करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

अगर आप भी अपना GST रद्द करना चाहते हैं तो इसके लिए जरूरी है कि आप इससे जुड़े जरूरी दस्तावेज एकत्रित करके रख लें। बहुत बार ऐसा भी होता है कि करदाता को जरूरी दस्तावेजों की जानकारी नहीं होती है, जिसके कारण उसे परेशान होना पड़ता है और आपकी इसी परेशानी को खत्म करने के लिए हम निम्नलिखित ऑनलाइन जीएसटी पंजीकरण रद्द करने के लिए जरूरी दस्तावेज के बारे में बताने जा रहे हैं।

  • उस व्यवसाय का GSTIN जिसे रद्द किया जाना है। 
  • स्टॉक में रखे गए तैयार माल या स्टॉक में रखे गए इनपुट का विवरण में निहित इनपुट।
  • किसी भी लंबित GST देयता, जुर्माना आदि की जानकारी।
  • ऐसी देयता और इनपुट टैक्स क्रेडिट के विवरण के खिलाफ किए गए किसी भी GST भुगतान की जानकारी।

# GST को रद्द / आत्मसमर्पण करने से पहले क्या करना होगा ?

जीएसटी रद्द करने या समर्पण करने को लेकर करदाता के मन में कई सारे सवाल पैदा होते हैं। उनमें से एक जरूरी सवाल यह है कि जीएसटी को रद्द करने या आत्मसमर्पण करने से पहले क्या करना होगा? अगर आप भी इस सवाल का जवाब ढूंढ रहे हैं तो अब आपको ज्यादा परेशान होने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि नीचे इस सवाल का जवाब बताने जा रहे हैं। चलिए जानते हैं कि जीएसटी रद्द करने से पहले क्या करना होगा?

  • सभी GST बकाया समाशोधन
  • जिनके लिए बिक्री चालान जारी किए गए हैं, उन सभी करों का भुगतान करना। 
  • फाइलिंग / नॉन फाइलिंग में देरी के लिए सभी जुर्माना को भर देना।

GST रद्दीकरण के लिए पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs’)

जीएसटी का अर्थ इसके नाम से ही पता चल रहा है, जैसा की आप समझ सकते हैं की यह गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) है। यह देश की कर व्यवस्था को सुधारने में एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। इससे उत्पादों की लागत में कमी आ रही है, साथ ही पूरे देश का बाजार एक आम बाजार हो गया है, जहाँ व्यवसायी एक ही टैक्स पर पूरे देश में कहीं भी अपना व्यापर कर सकता है और उसको भली भांति बढ़ा भी सकता है। चलिए जीएसटी से जुड़े कुछ ऐसे सवालों के जवाब पर नजर डालते हैं जो अक्सर लोगों के मन में आते रहते हैं।

# मैं GST ऑनलाइन कैसे समर्पण कर सकता हूं?

अगर आप जीएसटी रद्द करना या समर्पण करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको निम्नलिखित चार चरणों को पालन करना होगा

  1. GST की वेबसाइट पर लॉग इन करें। 
  2. अपने सभी दस्तावेज़ अपलोड करें और भुगतान करें। 
  3. FORM GST REG-16 भरें।
  4. अब आपके मेल पर GST रद्द करने की स्वीकृति मिलेगी।

# मैं अपना जीएसटी रद्द करने की जांच कैसे करूं?

बहुत बार ऐसा भी होता है कि जब हम जीएसटी रद्द करने की प्रोसेस पूरी कर लेते हैं लेकिन उसके बाद भी हमें कई तरह की शंका होती है कि आखिर हमारा जीएसटी रद्द होगा भी या नहीं? या फिर वह अभी किस स्थिति में होगा? अगर आप भी जीएसटी रद्द करने की जांच करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको 3 चरणों का पालन करना होगा।

  • सबसे पहले GST पोर्टल पर जाएँ।
  • ‘सेवाएँ’> ‘पंजीकरण’> ‘ट्रैक एप्लिकेशन स्थिति’ पर जाएँ।
  • Period सबमिशन पीरियड विकल्प पर क्लिक करें और जीएसटी रद्द करने के लिए आवेदन करने के बाद तारीख भरें और फिर “खोज” पर क्लिक करें।

# क्यों रद्द करें जीएसटी?

अगर आप भी यह सोच रहें हैं कि आखिर जीएसटी रद्द क्यों करें तो हम आपको बतादें कि अनावश्यक फाइलिंग से बचने के लिए आपको जीएसटी रद्द करना चाहिए। अगर आपका व्यवसाय बंद है और आप बिना वजह के जीएसटी फाइल कर रहे हैं तो आपके लिए इसे रद्द करना ही उचित रहेगा।

# मुझे कैसे पता चलेगा कि मेरा जीएसटी पंजीकरण रद्द होने की संभावना है?

अगर आप अपना जीएसटी पंजीकरण रद्द करना चाहते हैं लेकिन आप इस बात से अंजान है या आप नहीं जानते हैं कि आपका पंजीकरण रद्द होगा भी या नहीं तो जीएसटी पंजीकरण रद्द होने की संभावना को लेकर जीएसटी प्राधिकरण आपको कारण बताओ नोटिस भेजेगा, जिसके लिए आपको 7 दिनों के भीतर उचित जवाब देना होगा।

# क्या हम GST रद्द करने के बाद GST पंजीकरण रद्द कर सकते हैं?

यह बहुत ही अच्छा सवाल है, हो सकता है कि इस तरह का सवाल आपके भी मन में आया हो। तो आपको बतादें कि जीएसटी पंजीकरण रद्द होने के बाद जीएसटी पंजीकरण बहाल नहीं किया जा सकता है। यदि जीएसटी पंजीकरण गलती से आत्मसमर्पण कर दिया जाता है, तो यह सुनिश्चित करने के लिए रद्द कर दिया जाएगा।

# GST सर्टिफिकेट सरेंडर करने के बाद GST रद्द करने में कितना समय लगता है?

अगर आपने जीएसटी सर्टिफिकेट सरेंडर कर दिया है, और आप अब जीएसटी रद्द होने का इंतजार कर रहे हैं तो यहां पर हम आपको बतादें कि जीएसटी पंजीकरण प्रमाणपत्र को आत्मसमर्पण करने के बाद जीएसटी रद्द होने में लगभग एक महीने का समय लगता है।

# मैं जीएसटी पंजीकरण रद्द करने के लिए कहाँ आवेदन कर सकता हूँ?

लॉग इन करने के बाद कोई भी जीएसटी पोर्टल से जीएसटी पंजीकरण के लिए आवेदन प्राप्त कर सकता है। मेथड इस तरह है  सर्विसेज़ > रेजिस्ट्रैशन > एप्लीकेशन फॉर कैंसलेशन ऑफ रजिस्ट्रेशन।


Stay updated about the Latest News on Vyaparapp

Download the BEST GST Compliant Mobile Billing App

Happy Vyaparing!!!

Leave a Reply