सर्विसेज़ जो GST के तहत सस्ती हो रही हैं

GST की दरों में कुछ ऐसे नए बदलाव आएँ हैं जिससे नीचे बताई गईं सर्विसेज़ कम महँगी हो रही हैं: विवरण   पहले की दरें    बदली हुई दरें हेडिंग 9965 के तहत वर्गीकृत- वस्तुओं का  मल्टी -मॉडल ट्रांसपोर्टेशन 18% 12% ई-बूक्स की सप्लाई जिसका प्रिन्ट वर्शन हैडिंग 9984 के तहत वर्गीकृत है   18%…

Read More...

आईटीआर(ITR)(नॉन-ऑडिट मामलों के लिए ) भरने की आख़िरी तारीख़ 31 अगस्त तक बढ़ा दी गई है

ITR, business accounting, income tax, due date

नॉन-ऑडिट मामलों में टैक्स देने वालों के लिए, जिन्होंने अब तक अपना  इनकम टैक्स/आयकर रिटर्न नहीं भरा है यहाँ एक अच्छी खबर है। वित्त मंत्रालय ने आईटीआर(ITR) (इनकम टैक्स/आयकर रिटर्न) भरने की आख़िरी तारीख 31 जुलाई 2018 से 31 अगस्त 2018  तक बढ़ाने की घोषणा की है। अगर आप उन टैक्स देने वालों/करदाताओं की श्रेणी…

Read More...

कंसोलिडेटेड क्रेडिट / डेबिट नोट हमें बहुत बड़ी राहत देगा: ये कहना है छोटे बिजनेसमैन का

Debit/Credit Note,GST, business, invoicing

         वर्तमान में, रजिस्टर्ड बिजनेसमैन द्वारा जारी किए गए क्रेडिट / डेबिट नोट को इनवॉइस के हिसाब से जमा कराना पड़ता है, जो कि बिजनेसमैन के लिए बहुत ही मुश्किल है, क्योंकि हर इनवॉइस का सही तरीके से मिलान करना पड़ता है|  इससे टैक्स देने वालों के लिए कम्प्लाइंस बोझ बढ़ जाता…

Read More...

28 वीं GST परिषद /कॉउंसिल के अपडेट्स: टैक्स रेट में नए बदलाव जिनके बारे में आपको जानकारी होनी चाहिए

vyapar, accounting, GST

28 वीं GST कॉउंसिल से टैक्स देने वालों को बहुत राहत मिली है। यहाँ बताया गया है कि अब से क्या बदलाव होने वाले हैं: 1. सैनिटरी नैपकिन पर आगे से GST  हटा दिया गया है: वू-हू! लगता है लेडीज़ की आवाज को बहुत ध्यान से सुना गया है| 2.1% चीनी सेस पर कोई निर्णय नहीं…

Read More...

टैक्स रेट में गिरावट : यहाँ उन आइटम्स की लिस्ट दी गई है जो बहुत सस्ते हो गए हैं

GST, Vyapar, business, tax, price

GST रहित  : (ज़ीरो टैक्स रेट) सैनिटरी पैड्स पत्थर, मार्बल या लकड़ी से बने देवी-देवता | राखियाँ, बिना किसी कीमती धातुओं के|   झाड़ूओं में इस्तेमाल होने वाला कच्चा माल। आरबीआई(RBI) या सरकार द्वारा चलाए गए स्मारक सिक्के साल की पत्तियां फोर्टीफाइड दूध 12% से 5% तक हाथ से बनी हुई (हैंडलूम) दरी उर्वरक(फ़र्टिलाइज़र) ग्रेड…

Read More...

31 जुलाई से पहले आईटीआर(ITR) भरें: यहाँ बताया गया है कि एसएमई(SME) बिज़नेसमैन को क्या क्या जानकारी होनी चाहिए

July 31st, ITR, return filing

क्या आप एक ऐसा बिज़नेस चलाते हैं जिसकी आय 1 करोड़ रुपये से ज़्यादा है? या आप अपना कोई काम करते हैं (सेल्फ-एम्प्लॉयड) जिसमें  आप 25 लाख रुपये से ज्यादा कमाते हैं? अगर आप इनमें से कोई भी एक हो , तो 31 जुलाई आपके लिए एक महत्वपूर्ण तारीख हो सकती है और इसलिए यहाँ…

Read More...

भारत में डिपार्टमेंटल स्टोर/ किराने की दुकान कैसे शुरू करें

kirana-store, accounting, inventory

क्या आप अपने इलाके में डिपार्टमेंटल स्टोर / किराने की दुकान खोलना चाहते हैं? अच्छी बात है, लेकिन हम आपको बताना चाहेंगे कि एक किराने  के बिज़नेस को शुरू करना कोई बहुत बड़ा मुश्किल काम नहीं है अगर आपके पास जेब में कैश है, लेकिन इसे सफल बनाना एक बहुत मुश्किल काम है। एक डिपार्टमेंटल…

Read More...

भारत में एक आर्गेनिक फ़ूड स्टोर  कैसे शुरू करें

vyapar, business, business tips, grocery store, organic store

क्या आप अपना आर्गेनिक स्टोर शुरू करने की सोच रहे हैं? मैं कहूंगा कि ये एक बहुत ही समझदारी वाला फ़ैसला है ! आजकल लोगों में स्वस्थ रहने की जागरूकता बढ़ने के साथ, ग्रोसरी की दुकानों में हर जगह आर्गेनिक खाने का सामान मिल रहा है। भारतीय आर्गेनिक फ़ूड बाजार में बढ़ोतरी के साथ साथ…

Read More...

भारत में मेडिकल स्टोर/फार्मेसी बिज़नेस कैसे शुरू करे

medical store, pharmacy business, small business, business accounting

फार्मेसी बिज़नेस भारत में एक सदाबहार बिज़नेस है जो इकनोमिक साइकल्स से प्रभावित नहीं होता है। इसलिए, अगर किसी के पास निवेश के लिए बहुत कम पूंजी और स्थान है, तो फार्मेसी भारत में कई बिजनेसमैन के लिए आदर्श बिज़नेस है। मेडिकल स्टोर के लिए फार्मेसी लाइसेंस प्राप्त करने के लिए ज़रूरी चीज़ें/बातें : #…

Read More...

GST के बारे में खबर – रिटेलर्स को 90 दिनों के अंदर टैक्स डेक्लरेशंस (घोषणापत्र ) जमा करने होंगे

GST Invoice, GST Mobile App, Invoice and Billing App Free, GST Invoice App, GST India, GST App, GST Invoices, GST updates

1 जुलाई से GST लागू  होने के बाद ट्रांज़िशन स्टॉक के लिए टैक्स क्रेडिट का दावा करने वाले ट्रेडर्स और रिटेलर्स को 90 दिनों के अंदर डेक्लेरेशन(टैक्स की  घोषणा) फाइल करनी होगी| गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) रेजीम में पुराने टैक्स से GST टैक्स पर आने के लिए नियम बनाए गए थे, उसके  पहले ड्राफ्ट…

Read More...